संस्कृत, संस्कृति संरक्षक सम्मान से नवाजे गए बांदा के प्रोफेसर रामनारायण

वाराणसी के काशी हिंदू विश्वविद्यालय में व्याकरण के विभागाध्यक्ष प्रो.रामनारायण

गुजरात के वडोदरा में राज्यपाल के हाथों किए गए सम्मानित, बने जिले का गौरव

भास्कर न्यूज

बांदा। जनपद के अछरौड़ गांव निवासी और काशी हिंदू विश्वविद्यालय में संस्कृत व्याकरण के विभागाध्यक्ष प्रो.रामनारायण द्विवेदी को उनकी विद्वता के पूरे देश में जाना जाता है। उन्हें गुजरात के वड़ोदरा स्थित नीलकंठ धाम पोईचा में आयोजित राष्ट्रीय संस्कृत शास्त्रार्थ के दौरान राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने संस्कृत संस्कृति संरक्षक सम्मान ने सम्मानित किया और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।

स्वामी नारायण गुरुकुल राजकोट गुजरात के तत्वावधान में आयोजित राष्ट्रीय संस्कृत शास्त्रार्थ कार्यक्रम में शिरकत करके जिले के अछरौंड़ गांव निवासी प्रो.रामनारायण द्विवेदी ने अपनी विद्वता का लोहा मनवाया और सभी की सराहना हासिल की। कार्यक्रम में स्वामी ब्रज वल्लभदास महाराज की उपस्थिति उल्लेखनीय रही। आजादी के अमृत महोत्सव के तहत आयोजित राष्ट्रीय संस्कृत शास्त्रार्थ में प्रो.द्विवेदी के अलावा केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय नई दिल्ली के कुलपति प्रो.श्रीनिवास वरखेड़ी, लालबहादुर शास्त्री राष्ट्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय नई दिल्ली के कुलपति प्रो.मुरली मनोहर पाठक, कालिदास संस्कृत विश्वविद्यालय रामटेक नागपुर के कुलपति प्रो.मधुसूदन पेन्ना, सोमनाथ संस्कृत विश्वविद्यालय गुजरात के कुलपति प्रो.ललित भाई पटेल, प्रो.कमलेश झा, प्रो.आरावमुदन, डा.नागराज तिरुपति समेत देश के तमाम संस्कृत के विद्वानों ने हिस्सा लिया। प्रो.द्विवेदी काशी विद्वत परिषद के महामंत्री भी हैं और उन्हें राष्ट्रपति सम्मान समेत अनेकों सम्मान व पुरस्कारों से नवाजा जा चुका है।

Back to top button