थानाध्यक्ष की पत्नी की संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगने से मौत

भास्कर समाचार सेवा

कासगंजI जिले के सिकंदरपुर थाना में तैनात थानाध्यक्ष की पत्नी की संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगने से मौत हो गयी, घटना की सूचना पर पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया।
आनन फानन में सीओ पटियाली के साथ पुलिस अधीक्षक बीबीजीटीएस मूर्ति घटनास्थल पर पहुंच गए और वहां का निरीक्षण किया।मामले की जानकारी उच्चाधिकारियों को दी गई , जिसके बाद डीआईजी दीपक कुमार ने भी घटनास्थल का निरीक्षण कर एसपी को जांच के आदेश दिए हैं।वहीं प्रथम दृष्टया लापरवाही का दोषी मानते हुए एसपी ने थानाध्यक्ष सिकंदरपुर वैश्य विवेक गुप्ता को निलंबित कर दिया है, तथा मामले की जांच के आदेश दिए हैं। आपको बता दें कि कासगंज एसपी बीबीजीटीएस मूर्ति ने बताया कि उन्हें देर रात्रि सूचना मिली थी कि जिले के सिकंदरपुर वैश्य थाना के थानाध्यक्ष विवेक कुमार गुप्ता की पत्नी आरती उर्फ दीप्ति पोरवाल ने 315 बोर के तमंचे से आत्महत्या कर ली है , घटना के बाद मेरे द्वारा अधीनस्थ अधिकारियों के साथ घटना स्थल का निरीक्षण किया गया ।जहां प्रभारी निरीक्षक के आवास से एक देशी तमंचा 315 बोर बरामद हुआ है , घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण व जांच पड़ताल हेतु फील्ड यूनिट डॉग स्क्वायड व फोरेंसिक टीम को बुलाया गया है।
चूंकि मृतका की शादी को महज सात वर्ष हुए हैं , इसलिए उपजिलाधिकारी पटियाली द्वारा भी घटनास्थल का निरीक्षण किया गया है।मामले की सूचना पर डीआईजी रेंज अलीगढ़ भी मौके पर पहुंच गए और घटनास्थल का निरीक्षण कर एसपी से मामले की जानकारी ली, एसपी के मुताबिक प्रथम दृष्टया लापरवाही मानते हुए इंस्पेक्टर विवेक गुप्ता को निलंबित कर दिया गया है और मामले की जांच की जा रही है।वहीं इस पूरे मामले में मृतका की बहन ने बताया कि आरोपी थानाध्यक्ष ने उनकी बहन की हत्या की है, थानाध्यक्ष के सरकारी आवास में अवैध तमंचा कैसे आया ? इसका जवाब कोई नहीं दे रहा है।
मृतका की बहन की मानें तो उसकी बहन की हत्या उसके जीजा विवेक गुप्ता ने की है , आरोपी ने दूसरी शादी कर ली थी जिसकी वजह से उनकी बहन बहुत ज्यादा परेशान थी और लगातार आरोपी के मानसिक उत्पीड़न से परेशान थी।
वो इस मामले में न्यायिक जांच कर आरोपी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग कर रही हैं।

Back to top button