सीतापुर : निर्माणाधीन अस्पताल में बंद किए निराश्रित गोवंश

निराश्रित गोवंशों से परेशान ग्रामीणों का बढ़ रहा गुस्सा

महमूदाबाद/सीतापुर। गांवों में सैकड़ों की तादात में घूम रहे छुट्टा मवेशी किसानों के लिए अभिशाप बनते जा रहे हैं। समस्या का समाधान न होने से ग्रामीणों का गुस्सा भी लगातार बढ़ता जा रहा है। पहला विकास खंड की ग्राम पंचायत भुड़कुड़ा में ग्रामीणों ने करीब आधा सैकड़ा आवारा छुट्टा मवेशियों को गुरुवार की सुबह निर्माणाधीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में बंद कर दिया।

ग्रामीणों ने यहां शासन-प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी भी की। पहला विकास खंड व सदरपुर थानाक्षेत्र के ग्राम भुड़कुड़ा में काफी समय से किसान आवारा छुट्टा मवेशियों के आतंक से परेशान हैं। यहां किसानों की धान व गन्ने की सैकड़ों बीघा फसल को छुट्टा मवेशी अपना निवाला बना चुके हैं। ग्रामीणों ने ब्लाक मुख्यालय समेत अन्य उच्चाधिकारियों को समस्या से निजात दिलाने की मांग कई बार की किंतु समस्या का समाधान न हो सका। आजिज आकर आखिरकार ग्रामीणों का गुस्सा शासन प्रशासन के खिलाफ फूट पड़ा।

आक्रोशित ग्रामीणों ने गुरुवार की सुबह गांव और खेतों में घूम रहे करीब आधा सैकड़ा छुट्टा मवेशियों को खदेड़कर गांव से बाहर गोसाईं बाबा के तालाब किनारे बन रहे निर्माणाधीन पीएचसी भुड़कुड़ा में पहुंचाकर बंद कर दिया। ग्रामीणों ने बताया कि उनकी धान, गन्ना, उरद, मूंगफली, बाजरा आदि की खेतों में लगी फसल को छुट्टा जानवर बर्बाद कर रहे हैं। इस संबंध में बीडीओ पहला विवेक मणि त्रिपाठी से वार्ता की गई तो उन्होंने बताया कि मामले की जानकारी मिली है। ब्लाक स्तरीय कर्मचारियों को मौके पर भेजकर समस्या समाधान कराने का प्रयास किया जा रहा है।

Back to top button