सीतापुर : अंतर्जनपदीय गिरोह के चार शातिर दबोचे गए, इस तरह कई लोगो को ठगा

इंटरनेट व मोबाइल के द्वारा लोगो से लगातार कर रहे थे धन वसूली

मछरेहटा-सीतापुर। मछरेहटा पुलिस द्वारा एक अंतर्जनपदीय गिरोह के चार शातिर जालसाजों को गिरफ्तार किया गया। बताते चले थाना क्षेत्र मछरेहटा के गांव शाहपुर निवासी हरिश्चन्द्र पुत्र मिश्रीलाल ने लगभग एक माह पूर्व मोबाइल टावर लगवाने के नाम पर जालसाजों के एक गिरोह ने गुमराह कर करीब एक लाख पांच हजार रुपये ठग लिया। मामला कुछ यूं हुआ कि पीडि़त कर अनुसार एक मोबाइल नम्बर से उसके मोबाइल पर काल आती है और मोबाइल टावर लगवाने के नाम पर पैतालीस हजार रुपये की मांग की जाती है फिर पीडि़त को डाक के जरिये टावर एग्रीमेंट के कागज भी दिए जाते है। पीडि़त भरोशा करके धीरे-धीरे करीब एक लाख पांच हजार रुपये दे चुका होता है लेकिन फिर भी जब कोई काम नही हुआ तो प्रार्थी उसी नम्बर पर फोन करके जानकारी लेता है तो उधर से फिर पैतालीस हजार रुपये जमा करने को कहा गया और धमकी दी गयी कि यदि पैसा नही भेजा तो टावर नही लग पायेगा।

प्रार्थी द्वारा अपना खेत व मोटरसाइकिल सब गिरवी रख दिया गया है। प्रार्थी जब अधिक आहत हो गया तो मछरेहटा थाने में शिकायत की। जब मछरेहटा थाने में यह धोखाधड़ी की शिकायत पहुंची तो थाना प्रभारी राम प्रकाश ने मछरेहटा के वरिष्ठ उप निरीक्षक अनिल तिवारी को मामला निपटाने को बोला उप निरीक्षक अनिल तिवारी क्राइम के मामलों को त्वरित अनावरण के लिए जाने जाते है। उन्होंने उक्त व्यक्ति की शिकायत पर अपनी टीम तैयार कर मामले की विवेचना प्रारम्भ कर दी और उक्त मोबाइल नम्बरो का डेटा खंगालना शुरू कर दिया और आखिर कर वरिष्ठ उप निरीक्षक को जानकारी मिली कि उक्त शातिर जालसाज जो कि कुशीनगर व देवरिया के है और फिर टीम को कुशीनगर के लिए मूव कर दिया।

मात्र 25 घण्टे में जालसाजों को उठा लाई। जिनको पुलिस अधीक्षक के समक्ष शुक्रवार को प्रस्तुत कर जेल भेजने की कार्यवाही की गई। चारो जालसाजों जिनके नाम पदुम नाथ दुबे, अंकुर राय, अतिउल्लाह अंसारी, जनपद देवरिया व गंगेश्वर पांडे जनपद कुशीनगर को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया। इस केश को खोलने वाली टीम में वरिष्ठ उप निरीक्षक अनिल कुमार तिवारी, हे का. सुनील कुमार, का. तेजवीर यादव, का .कुशल चाहल, विनोद चाहर आदि पुलिस कर्मी शामिल थे।

Back to top button