सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा- आरोप खुद सत्ता में बैठे लोग लगा रहें हम नहीं

कन्नौज । पूर्व मुख्यमंत्री और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को कहा कि प्रदेश में ट्रांसफर-पोस्टिंग के नाम पर सरकार में बड़ा भ्रष्टाचार हुआ है। लोक निर्माण और स्वास्थ्य विभाग में इतना बड़ा भ्रष्टाचार कभी नहीं हुआ था। सरकार के लोग और राज्य के उप मुख्यमंत्री खुद आरोप लगा रहे हैं। विपक्ष ने तो कुछ कहा ही नहीं है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि जलशक्ति राज्य मंत्री ने तो खुद को पिछड़ा वर्ग का होने की वजह से अपमानित होने तक की बात कही है।

पार्टी के जिला कार्यालय पहुंचे सपा मुखिया अखिलेश ने पत्रकारों से कहा कि गंगा साफ नहीं हुई, डीजल, पेट्रोल महंगा हो गया। प्रदेश सरकार की सहमति पर ही दूध, दही व सूजी पर जीएसटी लग गया है। भाजपा से ऐसे सवाल न कोई पूछे, इसलिए धर्म और जाति में झगड़ा कराया जा रहा है। यही हाल विपक्ष के साथ किया जा रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा मुद्दों का मुकाबला नहीं कर पाती है, इसलिए ईडी और सीबीआई को आगे कर रही है।

उन्होंने कहा कि जांच ही करानी है, तो ट्रांसफर-पोस्टिंग में हुए भ्रष्टाचार की सीबीआई जांच कराइये। प्रदेश को सूखा ग्रस्त घोषित करने के सवाल पर अखिलेश बोले कि भाजपा सरकार के एक मंत्री ने कृत्रिम बारिश कराने की बात कही थी, अब वह कृत्रिम बारिश कराएं। परिषदीय स्कूलों में बच्चों को अब तक किताबें न मिलने पर कहा कि यह सरकार बच्चों को कुछ नहीं देंगी। पिछले साल भी किताबें नहीं मिलीं थीं।

ओम प्रकाश राजभर को लेकर किए गए सवाल पर अखिलेश ने कहा कि उनके बारे में हर कोई जानता है। आने वाले समय में जो गठबंधन है (गठबंधन में अभी जो दल बचे हुए हैं) उसके साथ ही चुनाव लड़ेंगे। जनता बदलाव के लिए काम करेगी। अग्निवीर योजना को उन्होंने देश के लिए बड़ी समस्या बताया। बोले कि इसका क्या निदान है। सवाल नौकरी का है, महंगाई का है। खेतीबाड़ी में कुछ मिल नहीं रहा। दो हजार रुपये में किसान को खुश कर रहे हैं। खाद, डीएपी, डीजल, पेट्रोल कितना महंगा है।

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के कार्यकाल को लेकर किए गए सवाल के जवाब में अखिलेश यादव ने कहा कि इसी जिले के पड़ोस के रहने वाले हैं। उनका कार्यकाल अच्छा रहा। दलित समाज इस बात पर गर्व कर सकता है कि उनके समाज का व्यक्ति राष्ट्रपति बना, लेकिन उनके पद पर रहते उनके समाज में कोई बहुत परिवर्तन नहीं आया। नवनिर्वाचित राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को लेकर कहा कि अब इनका कार्यकाल देखेंगे, लेकिन भाजपा किसी को बोलने नहीं देगी।

Back to top button