मुकुंद गढ़ी गोवंश आश्रय स्थल का हाल बेहाल

तीन दिन में तीन गोवंश की मौत, अधिकारी बेखबर

भास्कर समाचार सेवा

सिकंदराबाद। उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार बनने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निराश्रित गो वंशो के लिए गौशालाओं का निर्माण कराया था।साथ ही उनके खाने पीने की व्यवस्था व देखभाल के लिए भी केयरटेकरो की व्यवस्था की थी। सिकंदराबाद देहात में गोवंश आश्रय स्थल का हाल बेहाल है। वहां पर तीन रोज में तीन गोवंश को की मौत हो चुकी है। लेकिन इससे अधिकारी बेखबर है।

सिकंदराबाद तहसील के गांव मुकुंद गढ़ी में निराश्रित गोवंश के लिए गोवंश आश्रय स्थल बनाया हुआ है। जहां पर उनकी देखभाल के लिए केयरटेकर वीरसिंह व दो महिला ममता व जग्गू को नियुक्त किया हुआ है। जो कि आश्रय स्थल गोवंश की देखभाल व चारे आदि का कार्य देखती हैं। गोवंशओ के चारे के लिए ₹30 प्रतिदिन के हिसाब से सरकार द्वारा दिया जाता है। इस सबके बावजूद मुकुद गढ़ी गौशाला में गोवंशओं का हाल बेहाल है। वहां पर जलभराव व कीचड़ का अंबार लगा हुआ है। पिछले 3 दिनों में 3 गोवंश को की मौत हो चुकी है। वीर सिंह ने बताया कि गौशाला में 77 गोवंश थे जिनमें से 2 गोवंश 30 जुलाई वह एक गोवंश की 2 अगस्त को मौत हो चुकी है। वीर सिंह ने बीमारी के चलते गोवंशों की मौत होना बताया है। बता दे कि गोवंश आश्रय स्थल में पशु चिकित्सकों को भी देखभाल के लिए जिम्मेदारी मिली हुई है। अगर गोवंश ओ की मौत बीमारी से हो रही है तो पशु चिकित्सक बीमारी से बचाने के लिए क्या प्रयास कर रहे हैं। इस संबंध में एसडीएम राकेश कुमार सिंह से जानकारी की गई तो उन्होंने गोवंश की मौत की जानकारी नहीं होना बताया साथ ही जांच कर कार्रवाई करने की बात कही है।

Back to top button