सिंचाई विभाग द्वारा वाल्मीकि समाज को बिना नोटिस दिए मकान तोड़ने पर अमादा को लेकर मुख्यमंत्री के नाम जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा

भास्कर समाचार सेवा

मथुरा। अधिशासी अभियन्ता अपर खण्ड आगरा नहर मथुरा द्वारा बिना कोई अधिकार रहते हुये पीड़ितों के 40 से 50 वर्ष पुराने मकानों को बिना नोटिस के तोड़ने पर आमादा होने पर मुख्यमंत्री के नाम अतिरिक्त उपजिला अधिकारी को ज्ञापन दिया। संजय नगर विकास सेवा समिति संजय नगर ,कृष्णा नगर मथुरा एक पंजीकृत समिति है। जिसका नवीनीकरण जनवरी 2024 तक वैध है।समिति के लगभग तीन सौ साधारण सदस्य है जो नियमानुसार सदस्यता शुल्क जमा करते हैं उपरोक्त समिति का पंजीकरण रजिट्रार सोसाइटी एण्ड चिट्स फण्ड द्वारा समिति के सदस्यों को सामाजिक आर्थिक एवं विधिक रूप से मदद पहुचाने के लिए कराया गया ।समिति के ललित कुमार चौहान पुत्र स्व0 तेजसिंह चौहान, दिनेश पुत्र स्व० प्रकाश , पीतम पुत्र सुक्खन , छत्रपाल पुत्र निधिलाल ,ममता हरिजन पत्नी पप्पू , हेमन्त पुत्र लेखराम , शान्ती पत्नी श्रीचन्द , खचेरा पुत्र कुजीलाल , चम्पा देवी पत्नी परमौली , श्यामसिंह पुत्र परमौली सिंह ,वसन्ता पत्नी रोकलाल , पूरन पुत्र सुक्खी , छिद्दी पुत्र विहारी , रतन पुत्र नानगा , चन्द्रसैन पुत्र रामचरन ,सोहन देवी पत्नी बुद्धन , दिनेश पुत्र लीलाधर ,तोताराम पुत्र दुखी ,विजेन्द्र पुत्र हरदेव , कलावती पत्नी विजेन्द्र , रामसिंह पुत्र लेखराम , जगवीरी पत्नी रघुवीर , रूपसिंह पुत्र कन्हैया , चन्द्रमान पुत्र किशनसिंह , राजपाल पुत्र श्री रामजीलाल , जयदेवी पत्नी रूपसिंह , भीकम पुत्र वासुदेव , किरन पत्नी नथौली , रामजीलाल पुत्र श्यामलाल ,सुक्की पत्नी जवाली , चन्द्रभान पुत्र रामप्रकाश , अंतरकली पत्नी श्यामसिंह , रामपाल पुत्र नानगा , उदयचन्द पुत्र बलुआ , लौंगश्री पत्नी बाबूलाल , तेजपाल पुत्र सोनपाल , बाबूलाल पुत्र अक्का राम ,हरदेव पुत्र मारुति ,महेन्द्र पुत्र सुम्मेरा , रज्जो पत्नी पप्पू , शीला पत्नी नाना , रामदास पुत्र मिट्ठन लाल ,विद्या पत्नी चन्द्रपाल , रामसिंह पुत्र नानगाराम , केशर पुत्र मंगीलाल , राधा पत्नी शंकर ,रामवती पत्नी यादराम , सुगणसिंह पुत्र दयाराम , अल्लू पुत्र राधामोहन , सुशील नहरा पुत्र चारली ,शान्ती देवी पत्नी इकबालचन्द , गोपीराम पुत्र प्यारेलाल ,प्रेमचन्द पुत्र प्यारेलाल , कोमलप्रसाद पुत्र श्यामसुन्दर ,मुन्ना पुत्र नत्थी लाल , श्यामबाबू पुत्र चन्दर महाराज , सावित्री पत्नी खजान सिंह , भानू पुत्र नाथूराम ,अमर नाथ पुत्र नत्थीलाल ,कुवरपाल पुत्र नत्थीलाल ,बाबूलाल पुत्र कालीचरन ,टीकाराम पुत्र रामशरन , सुन्दर पुत्र हिम्मतलाल , जैराम पुत्र प्यारे , पदमसिंह पुत्र सोभाराम , हरीओम पुत्र मदमसिंह , तुलसी पुत्र भगवानदास ,घनश्याम पुत्र रामलाल ,ओमप्रकाश पुत्र रामजीलाल ,रामजी पुत्र निहालसिंह,रामप्रसाद पुत्र इमरती ,राजेन्द्र पुत्र ग्यासिया , मुन्नी पत्नी तुलसी ,लालो पुत्र झन्नो , चन्द्रभान पुत्र हुकमसिंह , जगन्नाथ पुत्र कलकतिया , सुन्दर पुत्र छीतरिया ,सोहनसिंह पुत्र दीपचन्द , सरस्वती पत्नी घनश्याम , नन्द किशोर पुत्र भगवानदास , पारसनाथ पुत्र सीथलप्रसाद सुरेश पुत्र बल्देव , नत्थो पुत्र गोकुलचन्द , सुरेश पुत्र घमण्डी , यादराम पुत्र हेता , चन्द्रवती पत्नी खम्मनसिंह , रामपाल पुत्र श्री रामजीलाल , रमजो पुत्र भन्दा , लज्जो राम पुत्र नन्दई राम , श्याम पुत्र रामस्वरूप , मोहनदेई पत्नी श्याम , ओमप्रकाश पुत्र , केवल पुत्र अतरसिंह , देवीराम पुत्र कन्हैया लाल , किशोर पुत्र सरमन ,मोहन पुत्र केदार , छत्रपाल पुत्र शालिगराम , परसुराम पुत्र श्यामलाल , भिक्की पुत्र गुलाबराम , जगदीश पाल, ओमवती पत्नी प्रभू, बैनीराम पुत्र चिरमौली , सावित्री पत्नी सुधीर , असरभी पत्नी किशनलाल , छोटे पुत्र मोहनलाल , भीकम पुत्र विहारी , कन्हैया पुत्र कुजी , गोकुल पुत्र केहरी , अनिल पुत्र वंशी , करनसिंह पुत्र खचेरा , करनसिंह पुत्र पूरनसिंह , पातीराम पुत्र सालिगराम , भवरसिंह पुत्र अमरसिंह , अनार देवी पत्नी मूलचन्द , शिवचरन पुत्र किशनलाल ,गोपाल पुत्र शिवचरन ,मंगोदेवी पत्नी उदीसिंह ,कामेश्वर पुत्र साधुचरनदास ,रंजीत पुत्र पदम सिंह , कुंती पत्नी फन्नेराम , दुल्ला पुत्र जगदीश ,रमेश चन्द्र पुत्र श्री लक्षमणसिंह ,पप्पू पुत्र बाबू , वीरीसिंह पुत्र बृजविहारी निवासीगण मो० संजय नगर पो० कृष्णा नगर मथुरा निवेदन करते हैं कि हम लोग दलित, कमजोर, सोशित एवं हरिजन जाती के हैं, हम सभी दसस्य के पास वर्तमान में 25 व 30 वर्ष पूर्व निर्मित कच्चे एवं पक्के मकान के अलावा कोई और सर छुपाने की जगह नहीं है सरकार द्वारा बिजली, पानी सड़क, नाली, टेलीफोन तथा नाली के पानी के निकासी हेतु उ०प्र० जल निगम मथुरा द्वारा एक बड़े नाले का निर्माण कराकर समिति के सदस्यों को दिया गया वह बड़ा नाला भगवान कृष्ण के जन्म स्थल से निकलकर भूतेश्वर रेलवे स्टेशन, राधा नगर, कृष्णानगर व संजय नगर के मौहल्ले होते हुये आगरा नहर के मथुरा शाखा (मथुरा जाने वाली नगर जो राजस्थान प्रान्त के अडींग स्थान से निकल कर मथुरा स्थित रास्ट्रीय राज मार्ग को पार करते हुये संजय नगर मौहल्ला होते जमुना नदी में मिलती है) में गिरता है। उ०प्र० जल निगम द्वारा सिचाई विभाग की सहमति से 08 फिट चौड़ा नाला प्रार्थी के सदस्यों के घरो के पानी की निकासी हेतु 08 व 10 वर्ष पूर्व निर्मित किया गया था पुराने अभिलेखों में वह नाला आज भी गन्दा नाला दर्ज है परन्तु सिचाई विभाग उ०प्र० मथुरा उसे अवैधानिकतौर पर अपनी नहर बताता है जबकि सूचना मांगने पर सिंचाई विभाग अपना स्वामित्व पत्र आदि तक नहीं दे पाया है उसी नाले की पटरी पर सभी सदस्यों के कच्चे पक्के मकान बने है। सिंचाई विभाग मथुरा द्वारा अवेध कब्जाधारी बताते हुये नोटिस दी जाती है। इसी क्रम में अक्टूबर 2020 में कब्जा हटाने की नोटिस नहर अधिनियम में दी गयी थी जिस पर सभी सदस्यों ने अपना स्पष्टीकरण सिंचाई विभाग के स्वामित्व की चुनौती देते हुये दे दिया। सभी सदस्यगण सोसित दलित व कुचले समाज के सदस्य है। तथा सर छुपाने की जगह प्राप्त करना उनका अधिकार है इसलिए उनके द्वारा निर्मित आवास विधिक रूप से नियमित किये जा सकते है क्योंकि जिस जमीन पर सभी आवास निर्मित है। वह समीन ना तो सार्वजनिक उपयोग की है न तो वह नाला किसानों द्वारा सिंचाई हेतु प्रयोग किया जाता है वहां पर अब न तो किसान हैं और न ही कृषि योग्य भूमि है। वह भूभाग अब नगर निगम मथुरा-वृन्दावन की परिधि में है परन्तु सिंचाई विभाग उस नाले को किसानों के लिए सिंचाई की सुविधा का तर्क देकर पीड़ितों के सभी सदस्यों को वेदखल करना चाहता है। पीड़ितों ने सभी सदस्यों के माध्यम से शासनादेश दिनांक 05.08.2008 के क्रम में दिनांक 28.01.2009 नियमितिकरण की मांग की थी जिस पर प्राधिकरण द्वारा नियमितिकरण शुल्क भी जमा कराया गया था. समिति तथा अधिकारियों के बीच कई वार्ता हुयी परन्तु कोई असरदार कार्यवाही नही। समिति द्वारा विषम परिस्थितियों में कानूनी कार्यवाही भी की गयी परन्तु प्राधीकरण के असहयोग से वह भी अर्थहीन साबित हुयी।नियमितिकरण के अभाव में सभी सदस्य सिंचाई विभाग मथुरा के उत्पीड़न के शिकार होते है। अतः प्रार्थना है कि गरीब, कुचलों के समाज के लोगों के घरों को न गिराया जाय। वैसे भी भारतीय संविधान में रोटी, कपड़ा, मकान की गांरटी प्रदत है।

Back to top button