सरकार द्वारा अनाधिकृत पुस्तक ना रखी जाए: डीआईओएस

पुस्तक विक्रेताओं एवं विद्यालय प्रधानाचार्य व शिक्षक अनाधिकृत पुस्तक खरीदने का अभिभावकों पर बना रहे दबाव

अभिभावकों की शिकायतों पर शासन में प्रशासन द्वारा समस्त पुस्तक विक्रेता एवं विद्यालय प्रधानाचार्य एवं प्रबंधकों को दी चेतावनी

भास्कर समाचार सेवा
मुजफ्फरनगर। जिला विद्यालय निरीक्षक गजेंद्र कुमार ने शनिवार को सचिव माध्यमिक शिक्षा परिषद प्रयागराज के निर्देशानुसार कक्षा 9 से कक्षा 12 तक की कक्षा में पढ़ाई जाने वाली विभिन्न विषयों की पुस्तकों की सूची जारी की गईए लेकिन इसके बावजूद अनाधिकृत पुस्तक विक्रेताओं एवं विद्यालयों प्रधानाचार्य शिक्षकों के खिलाफ अभिभावकों की आ रही शिकायतों को शासन और प्रशासन द्वारा संज्ञान में लिया गया जिसमें डीआईओएस गजेंद्र कुमार ने पुस्तक विक्रेता एवं विद्यालय स्टाफ से एवं विभाग के आदेशोंध्निर्देशों का पालन कर सहयोग करने की अपील की। इस दौरान कोई भी पुस्तक विक्रेता एवं विद्यालय स्टाफ अनाधिकृत पुस्तक पाई गई तो एफ आई आर दर्ज कर कठोर कार्रवाई की जाएगी।
जिला विद्यालय निरीक्षक गजेंद्र कुमार ने बताया कि शासन द्वारा इन विद्यालयों में पढ़ने वाले गरीब बच्चों को ध्यान में रखते हुए एन॰सी॰आर॰आर॰टी॰ के पाठ्यक्रम पर आधारित अत्यन्त सस्ती पुस्तकें उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गयी है परंतु कुछ प्रकाशकए पुस्तक विक्रेताए प्रधानाचार्य तथा शिक्षक शासन की योजना को पलीता लगाने के काम में मशगूल हैं। यहां तक कि प्रधानाचार्य तथा शिक्षक बच्चों को इस वर्ष हेतु निर्धारित किए गए प्रकाशकों की पुस्तकें लगाने के स्थान पर अनाधिकृत प्रकाशकों की किताबें ख़रीदने के लिए बच्चों और अभिभावकों पर दबाव बना रहे हैं जिससे बच्चों और उनके अभिभावकों के आर्थिक शोषण की शिकायतें पूरे प्रदेश में प्राप्त हो रही हैं। उन्होंने मीडिया बंधुओं के माध्यम से जनपद के सभी पुस्तक विक्रेताओंए प्रधानाचार्य तथा शिक्षकों से अनुरोध किया कि किसी भी हालत में अपनी दुकानोंध् विद्यालयों में किसी भी अनधिकृत प्रकाशक की किताबें ना तो रखीं जायेंए तथा ना ही बिक्री की जाये और ना ही विद्यालयों में पढ़ाई जायें। इसको सुनिश्चित करने के लिए ज़िला प्रशासन और मेरे स्तर से जनपद के सभी क्षेत्रों में टीम बनाकर किताबों की दुकानों तथा विद्यालयों में जाँच करायी जायेगीए यदि किसी भी पुस्तक विक्रेता के यहाँ अनधिकृत प्रकाशकों की किताबें पायी जाती हैं या किसी विद्यालय में अनधिकृत प्रकाशकों की किताबें बच्चों के पास पायी जाती हैं या शिक्षक पढ़ाते हुए पाए जाते हैं तो बिना हिचक सख़्त कार्यवाही करते हुए निकटवर्ती पुलिस स्टेशन में एफ़॰आई॰आर॰ दर्ज करायी जायेगी। जिसका सम्पूर्ण उत्तरदायित्व सम्बंधित पुस्तक विक्रेताओ और विद्यालय के प्रधानाचार्य एवं शिक्षक का होगा।

Back to top button