वाराणसी : नमो घाट पर टिकट लगाने के फैसले का जमकर विरोध, अफसर बैकफुट पर

वाराणसी । वाराणसी के नमो घाट (खिड़किया घाट) पर प्रवेश शुल्क लगाने के फैसले के लगातार विरोध के बाद दबाव में आये अफसरों ने फिलहाल इसे अग्रिम आदेश तक होल्ड पर रखा है। स्मार्ट सिटी के अफसरों के अनुसार फीस का फिर से रिव्यू किया जाएगा। इसके बाद अंतिम फैसला लिया जाएगा। घाट के मेंटिनेंस और भीड़ को कम करने के लिए शुल्क लगाया गया था। इसको लेकर कांग्रेस और समाजवादी पार्टी भी मुखर हो गई है।

बीते मंगलवार को अचानक स्मार्ट सिटी कंपनी ने नमो घाट (खिड़किया घाट) पर 10 रुपये का प्रवेश शुल्क लगा दिया था। यहां प्रवेश करने पर चार घंटे के लिए 10 रुपये टिकट निर्धारित किया गया। इसके अतिरिक्त इससे अधिक समय रहने पर दोबारा टिकट लेने का निर्देश दिया गया। इसके अलावा बेनियाबाग और मैदागिन टाउन हाल में भी प्रवेश के लिए टिकट लगाया गया है। सोशल मीडिया के जरिये लोगों को गंगा घाट पर जाने के लिए टिकट लगने की जानकारी हुई तो नाराजगी बढ़ने लगी। काशी के इतिहास में पहली बार घाट पर जाने की कीमत वसूलने को लेकर आम लोग भी सोशल मीडिया के जरिये विरोध जताने लगे। यह देख कांग्रेस और समाजवादी पार्टी भी मुखर हो गई।

Back to top button