VIDEO : भारत ने किए ताबड़तोड़ ताकतवर मिसाइल परीक्षण तो बौखलाया ड्रैगन सीमा पर दागने लगा रॉकेट और मिसाइलें

लद्दाख में भारत की ताबड़तोड़ कार्रवाई से चीन बौखलाय हुआ है.. और वो लगातार भारत के खिलाफ साजिशे रचने में लगा हुआ. दगाबाज चीन कभी भारत को युद्ध की गीदड़ भभकी देता है तो कभी भारतीय सेना को तनाव वाले क्षेत्र से पीछे हटने के लिए बोलता है. सीमा व‍िवाद को लेकर दोनों देशो के बीच कई दौर की बातचीत हो चुकी है लेकिन चीन मानने के लिए तैयार नहीं है. ऐसे में भारत ने भी चीन से दो टूक कह दिया  तुम्हे ही सीमा से वापस जाना होगा. उधर भारत पिछले कुछ दिनों से एक के बाद एक ताकतवर मिसाइलों का परीक्षण कर रहा है जो चीन की और भी ज्यादा बैचेनी बढ़ा रहा है. इसलिए तिलमिलाया चीन अब भारत पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है. जिसका एक बड़ा सबूत सामने आया है. दरअसल चीन ने भारतीय सीमा से सटे इलाके में जोरदार युद्ध अभ्‍यास किया है.

चीन के सरकारी भोंपू ग्‍लोबल टाइम्‍स ने कहा कि ये अभ्‍यास 4700 मीटर की ऊंचाई पर पीएलए के तिब्‍बत थिएटर कमांड की ओर से किया गया. ग्‍लोबल टाइम्‍स ने इस अभ्‍यास का एक वीडियो भी जारी किया है. विडियो में नजर आ रहा है कि चीनी सेना अंधेरे में ड्रोन विमानों की मदद से हमला बोलती है. चीनी सेना की रॉकेट फोर्स एक साथ जोरदार हमले करके एक पूरे पहाड़ी इलाके को तबाह कर देती है. ऐसा करके चीन भारत को डराने की कोशिश कर रहा है लेकिन चीन जो हरकतें कर रहा है उससे भारतीय सेना के होंसले दिन रोज और बढ़ते जा रहे हैं.

यही नहीं बल्कि चीनी सेना ने गाइडे‍ड मिसाइल के हमले का भी अभ्‍यास किया. अभ्‍यास के दौरान चीनी सेना की तोपों ने भी जमकर बम बरसाए. पीएलए के सैनिकों ने कंधे पर रखकर दागे जाने वाली मिसाइलों का भी प्रदर्शन किया. ग्‍लोबल टाइम्‍स ने दावा किया कि इस अभ्‍यास में शामिल 90 फीसदी हथियार और उपकरण एकदम नए हैं. माना जा रहा है कि चीनी अखबार ने भारत-चीन वार्ता के दौरान दबाव बनाने के लिए ये वीडियो जारी किया है.

बता दें कि भारत और चीन के बीच कई दौर की वार्ता के बाद भी अभी तक लद्दाख गतिरोध का कोई हल नहीं निकला है. भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा है कि सीमा पर बड़ी संख्या में चीनी सैनिकों की तैनाती पहले हुए करारों का उलट है. ऐसे में जब दो देशों के सैनिक तनाव वाले इलाकों में मौजूद रहते हैं तो वही होता है जो 15 जून को हुआ.  जयशंकर ने कहा, ये बर्ताव न सिर्फ बातचीत को प्रभावित करता है बल्कि 30 साल के संबंधों को भी खराब करता है. खैर चीन जिस तरह से भारत पर दवाब बनाने की कोशिश कर रहा है. वो कभी भी अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो पाएगा है. इसलिए चीन को सीमा पर हिमाकत करने से पहले सौ बार जरूर सोचना होगा.

Back to top button
E-Paper