VIDEO : ‘रावण’ हुआ कोरोना पॉजिटिव, अस्पताल में भर्ती हुआ, दशहरा उत्सव रद !

त्रेतायुग में रावण शक्तिशाली, बलशाली और पराक्रमी था. उस युग में बुद्धिमान की श्रेणी में आता था. त्रेतायुग का घंमडी रावण भगवान राम से युद्ध में परास्त होकर मृत्यु को प्राप्त हुआ था. लेकिन वही रावण कलयुग में अपने दुश्मन से बिना लड़े ही घायल हो गया. फिर उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया.

सोशल मीडिया पर एंबुलेंस की छत पर रखकर रावण का पुतला ले जाने का एक वीडियो बड़ी तेजी से वायरल हो रहा है. इसके साथ लिखा है कि ‘दशहरा उत्सव रद, ‘रावण’ हुआ कोरोना पॉजिटिव, अस्पताल में हुआ भर्ती!. 27 सेकेंड के इस वीडियो को ट्विटर, वाट्सएप और फेसबुक पर लोग जमकर शेयर कर रहे हैं.

लोग भी चंद लाइक्स और कमेंट्स के लिए सोशल मीडिया पर बेमतलब कुछ भी करते हैं. हद तो तब हो गई लकांपति रावण को कलयुग में कोरोना पॅाजटिव बता दिया. आप भी शायद ये सुनकर कंफ्यूज हो गए हों. तो बता दें कि मामला हरियाणा के सोनीपत का है. अफवाह उड़ी की इस बार दशहरा उत्सव रद्द हो गया है. रावण का पुतला कोरोना की चपेट में है जिसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

ये खबर जंगल की आग की तरह उड़ी, एक से दो, दो से तीन, तीन से चार और फिर अनेकों लोगों के पास पहुंची. जिसने भी सुना वो हैरान रह गया और सोचने पर विवश हो गया. कि क्या कोरोना पुतले को भी होकर पूरा मजा किरकिरा कर सकता है? असल में सोनीपत से एक 27 सेकंड का वीडियो वायरल हो रहा है. जिसमें रावण के पुतले को एम्बुलेंस की छत पर रखकर कहीं ले जाया जा रहा है. हो सकता है कि किसी ने सिर्फ शरारत के लिहाज से वीडियो डाला हो, अगर हमारे बीच आज रावण होता तो अपने पुतले के कोरोना पॉजिटिव होने की बात सुनकर न केवल परेशान होता बल्कि अपना सिर तक पीट लेता और सोशल मीडिया को जमकर कोसता.

क्या है सच्चाई

बता दें कि खरखौदा स्थित सेठी अस्पताल के लैब टेक्नीशियन धर्मबीर मीडिया कर्मी से बात करते हुए बताया कि सेठी अस्पताल की ओर से हर साल दशहरा उत्सव मनाया जाता है. पिछले साल भी विजय दशमी पर रावण का पुतला दहन की तैयारियां की जा रही थी. अस्पताल प्रबंधन ने बहादुरगढ़ में पहले ही रावण का पुतला बनवाया लेकिन 18 अक्टूबर, 2019 की देर शाम रावण के पुतले को खरखौदा लाने के लिए अस्पताल के कर्मचारियों को कोई वाहन नहीं मिला.

उन्होंने बताया कि अस्पताल के दो कर्मचारी अस्पताल की एंबुलेंस की छत पर रावण के पुतले को रखकर खरखौदा के लिए चले थे. इसी दौरान एक कार सवार ने इसका वीडियो बनाकर वायरल कर दिया. धर्मबीर ने बताया कि पिछले साल भी यह वीडियो खूब वायरल हुआ था. अब दशहरे के नजदीक आने पर लोग तरह-तरह की मजाकिया सूचनाएं लिखकर इसे वायरल कर रहे हैं. इस बार अस्पताल प्रबंधन दशहरा उत्सव नहीं मना रहा.

कोरोना संक्रमण के कारण लोग हंसी-मजाक के चलते इसे शेयर कर रहे हैं, क्योंकि आज विजय दशमी है. कोरोना संक्रमण के कारण सभी शहरों में विजय दशमी पर हर साल मनाए जाने वाले दशहरा उत्सव, मेले और रावण दहन के कार्यक्रम इस बार नहीं हो रहे हैं. लोग इस वीडियो को शेयर कर रावण के कोरोना संक्रमित होना बताकर दशहरा उत्सव कैंसिल होना बता रहे हैं.

दरसअल देखा जाएं तो वाकई ये मुश्किल दौर है. जिसमें हमें लाइक्स और कमेंट्स के चक्कर में पता ही नहीं चल रहा कि रावण का पुतला एक निर्जिव चीज है.

Back to top button
E-Paper