ग्राम विकास अधिकारी नीरू मलिक तिवाया के ग्रामीणों पर भड़की

ग्रामीणों ने धमकाने और दबंगई के आरोप लगाए

भास्कर समाचार सेवा

सहारनपुर। ब्लॉक पुंवारका क्षेत्र के ग्राम तिवाया में ग्राम समाज की जमीन पर योजना के अंतर्गत टीएचआर ब्लॉक में लगना था, जिसे लगवाने की जिम्मेदारी जिला प्रशासन को दी गयी थी। चयनित ग्राम पंचायत तिवाया के ग्रामीणों व ग्राम पंचायत पदाधिकारियों ने इस प्लांट को गांव की पंचायती जमीन में लगाने का विरोध किया। विरोध को शांत करने का जिम्मा महिला ग्राम विकास अधिकारी नीरू मलिक को दिया गया। मामले को सुलझाने आयी अधिकारी महोदया ने ग्रामीणों को समझाया पर ग्रामीणों के न समझी में अचानक भड़क गई व कुछ ग्रामीण युवकों पर बतमीजी से बात करने और मानसिक उत्पीड़न करने का आरोप भी लगाया। महिला अधिकारी व ग्रामीणों के साथ खूब बहस हुई इस, मामले से कुछ ग्रामीण नाराज दिखाई दिए। मामले की वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई।
मंगलवार को जिला सहारनपुर के ब्लॉक पुंवारका में सरकारी द्वारा आंगनवाड़ी कार्यक्रम के अंतर्गत टैक होम राशन प्लांट को लगाना था। कुछ ग्रामीणों ने इस राशन प्लांट का विरोध किया। विरोध को शांत करने व ग्रामीणों को समझाने के उद्देश्य से आई महिला ग्राम विकास अधिकारी नीरू मलिक ग्राम तिवाया आई। ग्राम पंचायत पदाधिकारी ग्राम सचिव, ग्राम प्रधान, बीडीसी व सदस्य समेत कई ग्रामीण ग्राम पंचायत भवन में इकठ्ठा हुए। ग्राम विकास अधिकारी ने टीएचआर प्लांट ग्राम पंचायत भवन में लगाने की बात रखी तो ग्रामीणों व कुछ युवाओं ने इसका विरोध किया। जिसपर अधिकारी महोदया को गुस्सा आया और विरोध करने वाले ग्रामीणों को पुलिस की लाठियों से पिटवाने की बात कह दी। जिस पर ग्रामीण भी भड़क गए और महिला अधिकारी पर दबंगई करने और धमकी देने का आरोप लगाया।
ग्राम विकास अधिकारी महिला नीरू मलिक से जब मामले के विषय मे बात की तो उन्होंने बताया कि हम ग्राम सचिव के साथ बिना पुलिस बल के ग्राम तिवाया में टीएचआर प्लांट लगवाने के उद्देश्य से गये थे तो कुछ ग्रामीण युवाओं समेत विकास यादव ने बतमीजी से बात की दबाव बनाने और मानसिक उत्पीड़न करने की कोशिश की जिस पर मैने उनको समझाया और कहा मैं भी तुम लोगो में से ही हूँ, ग्राम शामली से हूँ। इसके बाद ग्रामीणों ने मेरे द्वारा समझाने पर मेरा उत्साह वर्धन तालिया बजाकर किया।
ग्रामीणों से बात करने पर उन्होने बताया कि महिला अधिकारी ने हमारे साथ बतमीजी व दबंगई से बात की व अभद्रतापूर्वक व्यवहार किया और हमे पुलिस से पिटवाने की बात कही इसी के साथ कहा कि मैं पाकिस्तान से नही आई हूँ, शामली की जाटनी हूँ। बाद हमने महिला अधिकारी का उत्साह वर्धन किया और तालियाँ बजाकर उनका सम्मान भी किया।
इस दौरान सचिन कुमार, विकास कुमार, शरद यादव, कंवरपाल, मांगेराम, मनोज कुमार, राजेंद्र यादव, विजेंद्र कुमार,भानु यादव, चंकी यादव, पप्पू,टोनी, हरबीर, प्रवीण कुमार, अरविंद कुमार, अभिषेक, आदि ग्रामीण लोग मौजूद रहे।

Back to top button