वृंदावन: ठाकुर बांके बिहारी मंदिर एक बार फिर सुर्खियों में

भास्कर समाचार सेवा

मथुरा। वृंदावन में स्थित ठाकुर बांके बिहारी मंदिर में रविवार को एक सेवायत गोस्वामी द्वारा सिक्योरिटी गार्ड से दबंगई से चाबी लेकर गेट पर ताला लगाने का मामला प्रकाश में आया है। यहां मंदिर सेवायत के द्वारा एक घंटे मंदिर के गेट बंद रखे गए। जिससे श्रद्धालुओं को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। इस संबंध में सिक्योरिटी इंचार्ज द्वारा सेवायत के खिलाफ कोतवाली में तहरीर दी गई है।

बता दें कि रविवार शाम को दर्शन खुलने से पहले शाम करीब 4:30 बजे नामजद सेवायत द्वारा मंदिर के गेट अंदर से बंद कर दिए गए, जो लगभग 5:30 बजे के आसपास खोले गए। इस दौरान मंदिर के सभी गेटों पर भक्तों की भारी भीड़ एकत्रित हो गई। आरोप है कि ठाकुर बांके बिहारी महाराज के पट 5:30 बजे खुलते हैं, लेकिन मंदिर के गेट 4:30 बजे खोल दिए जाते हैं। परंतु, रविवार को मंदिर के सेवायत द्वारा सभी गेटों के अंदर से ताले लगाकर बंद कर दिए गए। मंदिर के बाहर जमा भीड़ के द्वारा सिक्योरिटी गार्ड एवं कर्मचारियों पर दवाब बनाया गया उसके बाद गेट खोले गए।

इस दौरान मंदिर के सिक्योरिटी गार्ड्स की कई श्रद्धालुओं के साथ हाथापाई और मारपीट भी हो गई। मंदिर के गेट अंदर से बंद कर दिए जाने के कारण बाहर हजारों भक्तों की भीड़ लग गई। लोग परेशान होकर मंदिर सेवायत एवं प्रबंधन को कोस रहे थे। वहीं मंदिर के अन्य सेवायत गोस्वामी, सिक्योरिटी गार्ड, पुलिसकर्मी एवं कर्मचारी भी मंदिर के बाहर खड़े रहे। इस संबंध में सिक्योरिटी एजेंसी के इंचार्ज जितेंद्र शर्मा द्वारा मंदिर के सेवायत के खिलाफ कोतवाली में नामजद तहरीर दी गई है। वहीं प्रबंधक मुनीष कुमार शर्मा ने बताया कि इस मामले में मंदिर प्रशासक सिविल जज जूनियर डिवीजन को भी अवगत करा दिया गया है।

Back to top button