महिलाओं ने गहने और चूड़ियां उतारी, पहने काले लिबास, मौहर्रम का चांद नजर आते ही गमगीन माहौल में की अजादारी

भास्कर समाचार सेवा

मेरठ। मौहर्रम के सिलसिले में इमामबारगाहों और अज़ाखानों में तैयारीयां पूर्ण कर ली गयी हैं। 31 जुलाई से मौहर्रम का आगाज हो गया। मौहर्रम कमेटी के संयोजक अलहाज सैय्यद शाह अब्बास सफवी ने चांद कमेटी लखनऊ से पुष्टि के उपरान्त मौहर्रम का चांद नजर आने की घोषणा की है।

मीडिया प्रभारी अली हैदर रिज़वी के अनुसार मौहर्रम की पहली तारीख 31 जुलाई तथा यौमे आशूरा दस मौहर्रम 9 अगस्त का होगा। मौहर्रम का चांद नजर आते ही महिलाओं ने अपने गहने और चूड़ियां उतार दी और पुरूष, महिलाओं, बच्चों ने काले लिबास पहनकर गमगीन माहौल में अज़ादारी का आगाज़ किया। इमामबारगाहों और अज़ाखानों में अलम-ए-मुबारक ज़री, ताज़िये सजा दिये गये। मातमी अन्जुमनों, अन्जुमन इमामिया, अन्जुमन दस्तये हुसैनी, तनजीम-ए-अब्बास, अन्जुमन फौजे हुसैनी, अन्जुमन सज्जादिया जै़दी फार्म तथा अंजुमन जुल्फिकार-ए-हैदरी लोहिया नगर ने अनेकों इमामबारगाहों में मातमपुर्सी और नौहेख्वानी की। या हुसैन, या अब्बास की सदाओं के बीच अनेकों अज़ाखानों में हजरत इमाम हुसैन और शोहदाये कर्बला की अजादारी व नौहेख्वानी का सिलसिला शुरू हुआ, जो आठ रबी-उल-अव्वल तक जारी रहेगा।

बैनर लगाकर दिया हुसैनियत का पैगाम
उन्होंने बताया, हजरत इमाम हुसैन और शौहदाए कर्बला की कुर्बानी के मकसद को उजागर करने के लिए सार्वजनिक स्थलों पर बैनर लगाकर हुसैनियत का पैगाम दिया गया है। जगह-जगह लगे काले झण्डों से मौहर्रम के गम की आमद का एहसास होने लगा है।

पहली अगस्त से शहर में निकलेंगे जुलूस
मीडिया प्रभारी अली हैदर रिजवी ने बताया, मेरठ नगर में दो मौहर्रम यानि 1 अगस्त से जुलूसों का सिलसिला शुरू हो जायेगा। दो मौहर्रम को जुलुसे जुलजनाह 4:00 बजे सायं इमामबारगाह जाहिदियान से सैय्यद नियाज़ हुसैन गुड्डू के संयोजन में, 2 अगस्त तीन मौहर्रम जुलूस-ए-अलम 5:00 बजे सायं इमामबारगाह जाहिदियान से हाजी शमशाद अली जैदी, युसुफ अली जै़दी के संयोजन में, 3 अगस्त चार मौहर्रम 5:00 बजे सांय अलहाज डाक्टर सैय्यद इकबाल हुसैन साहब (मरहूम) के अजाखाने पूर्वा फैय्याज अली हुसैनाबाद से अलहाज सैयद शाह अब्बास सफवी के संयोजन में, 4 अगस्त पांच मौहर्रम जुलूस-ए-जुलजनाह 3:00 बजे सांय इमामबारगाह मौहम्मद अली खान, बुढ़ाना गेट से इकबाल हुसैन के संयोजन में, 5 अगस्त छः मौहर्रम जुलूस-ए-जुलजनाह 3:00 बजे सायं इमामबारगाह सैयद तकी हुसैन बाजार पेड़ामल से सज्जाद हुसैन रिज़वी के संयोजन में, 6 अगस्त 7 मौहर्रम 6:00 बजे सांय अजाखाना अली हैदर छत्ता-अली रजा, वैली बाजार से, 7 अगस्त 8 मौहर्रम जुलूस-ए-अलम सांय 6:00 बजे मौलाना सैयद अफजाल हुसैन मरहूम के अजाखाने कोठी अतानस से सैयद गजनफर अब्बास के संयोजन में तथा अजा़खाना काजिम हुसैन जै़दी हुसैनाबाद से, तालिब जै़दी के संयोजन में, 7 अगस्त आठ मौहर्रम जुलूस-ए-अलम रात्री 8:00 बजे अजाखाना शायक अली कोटला से अंजुमन इमामिया के संयोजन में, 9 अगस्त 10 मौहर्रम जुलूस-ए-ताजिया 8 बजे सुबह इमामबारगाह डा. करीमबख्श जाटव गेट से गजनफर अब्बास के संयोजन में तथा इसी दिन यौमे आशूरा को अलम-ए-मुबारक व तबर्रूकात का जुलूस सैयद हसन अली जै़दी (मरहूम) के अजाखाने सुबह 7:00 बजे, हाजी शमशाद अली जै़दी के संयोजन में एवं जुलूस-ए-ताजिया व जुलजनाह, अलम-ए-मुबारक 2 बजे दोपहर, इमामबारगाह छोटी कर्बला से हसन मुर्तजा के संयोजन में प्रारम्भ होकर अपने निर्धारित रास्तों से होते हुये सम्पन्न होंगे।

Back to top button