अकादमी के दो प्रशिक्षु अधिकारियों को एकांतवास में भेजा

दोनों में नहीं है किसी तरह का कोई संक्रमण

मसूरी। लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी के दो प्रशिक्षु अधिकारियों ने अपने को सेल्फ क्वारंटाइन में रख लिया है। विगत दिनों व देहरादून स्थित इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वन अकादमी के भ्रमण पर गए थे। हालांकि दोनों अधिकारियों में किसी तरह के रोग के लक्षण नहीं मिले हैं लेकिन कोरोना वाइरस के संक्रमाण को लेकर एहतियातन उन्होंने 14 दिन तक किसी के संपर्क में न आने का निर्णय लिया।
अकादमी के निदेशक संजीव चोपड़ा ने बताया कि एक प्रशिक्षु आइएएस अधिकारी इससे पहले आईएफएस प्रोबेशनर्स के रूप में वन अकादमी का हिस्सा रहा है इसी लिहाज से प्रशासनिक अकादमी के यह अधिकारी अपने रूममेट अधिकारी के साथ वन अकादमी गए थे। वहां दोनों प्रशिक्षुओं ने स्पेन आदि देशों का दौरा कर लौटे व कुछ परिचित प्रशिक्षु आईएफएस अधिकारियों से भी मिले थे।
इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वन अकादमी के एक प्रशिक्षु अधिकारी में कोरोना के संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है उसको देखते हुए दोनों प्रशिक्षु आईएएस अधिकारियों को सेल्फ क्वारंटाइन में भेज दिया गया है। दोनों अधिकारियों को एकांत में रहने के लिए हास्टल के एक अलग कमरे में प्रबंध किया गया है। निदेशक संजीव का कहना है कि दोनों अधिकारियों का स्वास्थ्य ठीक है यदि इस बीच उनमें कुछ लक्षण पाये जाते हे तो चिकित्सीय परामर्श लिया जाएगा। लेकिन ये दोनों अधिकारी कोरोना आईएफएस के संपर्क में रहे हैं और अकादमी में अन्य प्रशिक्षुओं के संपर्क में भी रहे होगें परंतु इस पर कोई बोलने को तैयार नहीं है।
हालांकि इन दोनों अधिकारियों को क्वारंटाइन में भेज दिया गया है पर अन्य प्रशिक्षु अधिकारियों के लिए यह सुरक्षित नहीं हो सकता। क्योंकि ये बाहर भी अन्य लोगों के संपर्क में आये होंगे। हालांकि दोनों आईएएस अधिकारियों में अभी तक कोरोना के लक्षण नहीं पाये गये हैं और दोनो सेफ हैं लेकिन जिस तरह ये एकांतवास में भेजे गये हैं वहीं अन्य प्रशिक्षु अधिकारियों को भी इस तरह एकांतवास में भेजा जायेगा या नहीं जिनसे इनका संपर्क हुआ है।

Loading...
loading...
E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker