असम में जमी मिलीं कोविशील्ड वैक्सीन की 1000 खुराकें, जांच के आदेश जारी

देशभर में धीमे वैक्सीनेशन के बीच असम में कोरोना वायरस वैक्सीन की कम से कम 1,000 खुराकें जमी हुई मिली हैं। ये मामला असम के चाचर जिले का बताया जा रहा है और अधिकारियों ने मामले में जांच के आदेश दिए हैं।

वैक्सीन की ये खुराकें कैसे जमी, इसकी जांच की जा रही है और अधिकारियों ने रेफ्रिजरेटर्स में कुछ कमी की आशंका बताई है।

पूरा मामला क्या है, आइए आपको बताते हैं।

16 जनवरी की सुबह जमी हुई मिली थीं कोविशील्ड की 100 शीशियां

मामला असम के चाचर जिले के सिलचर मेडिकल कॉलेज और अस्पताल (SMCH) का है। यहां 16 जनवरी की सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कोरोना वैक्सीनेशन अभियान शुरू करने के बाद सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) की कोविशील्ड वैक्सीन की 100 शीशियां जमी हुई मिलीं। हर शीशी में 10 खुराकों के हिसाब से इन शीशियों में कुल 1,000 खुराकें थीं।

अभी ये खराब खुराकें चाचर जिले के केंद्रीय स्टोरेज में हैं और इन्हें जल्द ही दिसपुर भेजा जाएगा।कारण

अधिकारियों ने ये बताया वैक्सीनों के जमने का कारण

चाचर जिले के टीकाकरण अधिकारी अरुण देवनाथ के अनुसार, इस घटना का संबंध वैक्सीनों और अन्य मेडिकल सामानों को रखने के लिए विशेष तौर पर बनाए गए आइस-लाइन्ड रेफ्रिजरेटर्स (ILR) में एक कमी से हो सकता है।

उन्होंने कहा, “वैक्सीनों को ILR में 2 से 8 डिग्री सेल्सियस के नियंत्रित तापमान पर रखा जाता है। अगर तापमान इससे कम होता है तो मशीन मोबाइल फोन ऐप पर मैसेज भेज देती है।” बयान

अधिकारियों को नहीं मिला कोई मैसेज, मतलब मशीन में हुई खराबी- देवनाथ

देवनाथ ने आगे कहा कि इस मामले में अधिकारियों को अपने फोन पर ऐसा कोई मैसेज नहीं मिला, जिसका मतलब ILR में कोई तकनीकी खामी हुई होगी।

उन्होंने कहा कि ये वैक्सीनें चाचर जिले की केंद्रीय कोल्ड चैन से 15 जनवरी की शाम को अस्पताल पहुंची थीं और उन्हें अगली ही सुबह जमा हुआ पाया गया।

उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (NHM) की असम इकाई ने मामले में संबंधित अधिकारियों को नोटिस जारी किया है।बयान

अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण मामला

जिन अधिकारियों को नोटिस मिला है, उनमें शामिल SMCH के अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा और स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा, “यह एक बेहद दुर्भाग्यपूर्ण मामला है। हम अपना जवाब तैयार कर रहे हैं।”वैक्सीनेशन

असम और पूरे देश में यह है वैक्सीनेशन की स्थिति?

बता दें कि असम में अभी तक 7,585 लोगों को कोरोना वायरस की वैक्सीन लग चुकी है और इनमें से 2,043 लोगों को वैक्सीनेशन अभियान के चौथे दिन यानि मंगलवार को वैक्सीन लगी। राज्य में सबसे पहले स्वास्थ्यकर्मियों को वैक्सीन लगाई जा रही है।

पूरे देश की बात करें तो मंगलवार तक 6.31 लाख लोगों को वैक्सीन की पहली खुराक दी जा चुकी है। मंगलवार को कुल 1.77 लाख लोगों को वैक्सीन लगाई गई।

Back to top button
E-Paper