कहीं आपकी कुंडली में तो नहीं है ये योग, बचने के लिए करे ये 5 चमत्कारी उपाय

षड्यंत्र योग एक प्रकार का योग होता है। इस योग के कुंडली में होने से जातक षड्यंत्र यानी साजिश का शिकार हो जाता है। ज्योतिषाचार्यो के अनुसार, षड्यंत्र योग के कारण जातक को केवल परेशानियों का ही सामना करना पड़ता है। इसलिए कुंडली में ये दोष होने पर इसे अनदेखा ना करें और इस दोष से बचने के लिए नीचे बताए गए उपायों को करें। यदि आपकी कुंडली में षड्यंत्र योग है तो आप अपने जीवन में षड्यंत्र का शिकार होते रहेंगे। इस दोष को शांत करने के लिए यहां प्रस्तुत है 5 अचूक उपाय।इन उपायों को करने से षड्यंत्र योग से रक्षा होती है और इस योग का बुरा प्रभाव आप पर नहीं पड़ता है।

Loading...

क्या होता है षड्यंत्र योग

यदि लग्नेश 8वें घर में बैठा हो और उसके साथ कोई शुभ ग्रह न हो तो षड्यंत्र योग का निर्माण होता है। अर्थात लग्नेश अष्टम भाव में विराजमान हो जाए और उस लग्नेश पर लगन पर अशुभ ग्रहों की दृष्टि हो या किसी शुभ ग्रह ही दृष्टि नहीं हो। लग्नेश और अष्टमेश दोनों की पाप प्रभाव में आ जाए तो बहुत बड़े षड्यंत्र का शिकार होता है।

षड्यंत्र योग के कारण होने वाली हानि –

जिन लोगों की कुंडली में ये योग होता है उन लोगों को निम्नलिखित परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ये योग होने पर धन और संपत्ति की हानि होती है और जातक से धोखे से उसकी धन-संपत्ति छीन ली जाती है।
इस योग के कारण कई बार जीवन साथी से भी धोखा मिल जाता है और घर टूट जाता है।

ये दोष होने पर व्यापार में धोखा मिलने का खतरा अधिक होता है और व्यापार डूब सकता है।जिस भी जातक की कुंडली में यह योग होता है तो वह वह अपने किसी करीबी के षड्यंत्र का शिकार होता है। जैसे धोखे से धन या किसी भी प्रकार की संपत्ति का छीना जाना, विपरीत लिंगी द्वारा मुसीबत पैदा करना या किसी अन्य तरह के षड्यंत्र का शिकार हो जाना। व्यक्ति को साझेदारी के व्यापार में धोखा, जीवसाथी से धोखा, मित्र से धोखा या अपने किसी करीबी से धोखा मिल सकता है। इसके चलते मान-सम्मान को नुकसान पहुंचता है, आर्थिक और सेहत का भी नुकसान उठाना पड़ता है।

इस योग या दोष के 5 उपाय
हनुमान चालीसा पढ़ने से ये दोष दूर हो जाता है और इस दोष के कारण होने वाली हानि से जातक की रक्षा होती है। ये दोष होने पर जातक रोज हनुमान चालीसा या सुंदरकांड़ का पाठ करें। ये पाठ करने से हनुमान जी की कृपा बन जाती है और षड्यंत्र योग कुंडली से दूर हो जाता है।

शिव की पूजा

शिव जी की पूजा करने से भी षड्यंत्र योग को दूर किया जा सकता है। ये योग कुंडली में शुरू होने पर सोमवार के दिन शिव जी की पूजा करें और शिव जी को उनकी पसंदीदा चीजें अर्पित करें। शिव जी को ये चीजें अर्पित करने से शिव जी प्रसन्न हो जाते हैं और षड्यंत्र योग के प्रभाव से आप बच जाते हैं। शिव जी की पूजा करने के अलावा सोमवार के दिन व्रत भी रख सकते हैं।

लगाएं तिलक

रोज पूजा करने के बाद अपने माथे पर केसर या चंदन का तिलक लगा लें। तिलक लगाने से षड्यंत्र योग का प्रभाव जीवन पर नहीं पड़ता है। इसके अलावा रोज तुलसी के सामने घी का दीपक दो बार जलाएं।

करें तेल का दान

शनिवार के दिन एक कटोरी में सरसों का तेल डाल दें। इसके बाद इस तेल में अपनी परछाई को देखें और ये तेल मंदिर में रख आएं। ये उपाय करने से षड्यंत्र योग खत्म हो जाएगा।

ना करें किसी पर भी विश्वास

ये योग कुंडली में शुरू होने पर आप सावधानी के साथ कार्य करें और किसी पर भी अंधा विश्वास ना करें। व्यापार से जुड़े फैसले खुद से लें और सोच समझ कर कार्य करें।

Loading...
loading...
div#fvfeedbackbutton35999{ position:fixed; top:50%; right:0%; } div#fvfeedbackbutton35999 a{ text-decoration: none; } div#fvfeedbackbutton35999 span { background-color:#fc9f00; display:block; padding:8px; font-weight: bold; color:#fff; font-size: 18px !important; font-family: Arial, sans-serif !important; height:100%; float:right; margin-right:42px; transform-origin: right top 0; transform: rotate(270deg); -webkit-transform: rotate(270deg); -webkit-transform-origin: right top; -moz-transform: rotate(270deg); -moz-transform-origin: right top; -o-transform: rotate(270deg); -o-transform-origin: right top; -ms-transform: rotate(270deg); -ms-transform-origin: right top; filter: progid:DXImageTransform.Microsoft.BasicImage(rotation=4); } div#fvfeedbackbutton35999 span:hover { background-color:#ad0500; }
E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker