खर्राटे रोकने का जादुई नुस्खा, एक खुराक में हमेशा के लिए खत्म

दिन भर जब हम अन्य कामो में व्यस्त रहते हैं तो रात को बहुत थक जाते हैं. ऐसे में अपनी थकान मिटाने के लिए सबसे पहला ख्याल हमारे दिमाग में सोने का ही आता हैं. हम ये उम्मीद करते हैं कि रात भर हम बिना किसी परेशानी के आराम से सोएंगे. लेकिन ऐसे में जब आपके बगल में सोने वाला व्यक्ति जोर जोर से खर्राटे लेने लगता हैं तो आपकी नींद अच्छे से पूरी नहीं हो पाती हैं. इसके बाद जब आप अगली सुबह खर्राटे लेने वाले व्यक्ति को खर्राटे ना लेने को बोलते हैं तो वो यही कहता हैं ‘मैंने कब खर्राटे ली? मैं खर्राटे नहीं लेता.’ कई बार लोग खर्राटे लेने की रिकॉर्डिंग भी कर लेते हैं और फिर सामने वाले को साबूत के तौर पर दिखाते हैं.

Loading...

लेकिन इन सबके बावजूद उनका खर्राटे लेना जारी रहता हैं और आपकी नींद रोज ख़राब होती रहती हैं. ऐसे में उस खर्राटे लेने वाले व्यक्ति को गालियाँ देने की कोई जरूरत नहीं हैं. इसमें उसकी गलती नहीं हैं. आइए पहले आपको बताते हैं कि इंसान को खर्राटे किस वजह से आते हैं.

इस वजह से आती हैं खर्राटे लेने की आवाज़

दरसल हमारे गले में जो सांस की नली होती हैं उसके आसपास उपस्थित गले की चमड़ी में कई बार जख्म हो जाता हैं. जख्म की वजह से ये चमड़ी थोड़ी सी बाहर निकल झूलने लगती हैं. इसके बाद जब हम सांस अन्दर बाहर लेते हैं तो हवा की वजह से ये गले की ये चमड़ी हिलने लगती हैं और हमें खर्राटे की आवाज़ सुनाई देती हैं.

खर्राटे से छुटकारा पाने का घरेलु नुस्खा

यदि आप भी अपने पड़ोसी की खर्राटे लेने की आदत से परेशान हैं तो आप उन्हें इस नुस्खे को ट्रॉय करने की सलाह दे सकते हैं. आज का हमारा ये नुस्खा आपके गले की चमड़ी में बने जख्म की मरम्मत कर देगा. यानी उसके ठीक हो जाने से खर्राटे का सुनाई देना बंद हो जाएगा.

इस नुस्खे को बनाने के लिए हमें सिर्फ तीन चीजों की आवश्यकता हैं. पहला हल्दी. हल्दी में एंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते है हो जख्मो को ठीक करने में अहम भूमिका निभाते हैं. दूसरी सामग्री के रूप में हम शहद का उपयोग करेंगे. शहद गले को ठंडक पहुचाते हुए जख्म को जल्दी भरने का काम करता हैं. इस से गला साफ़ भी अच्छे से होता हैं. आप ने कई गायकों को भी रियास करने से पहले शहद और पानी पीते देखा होगा. तीसरी सामग्री के लिए हम एक ग्लास गुनगुने पानी का इस्तेमाल करेंगे. ये गुनगुना पानी आपके गले के जख्म में मौजूद कीटाणुओं का सफाया कर देगा.

इसे बनाने के लिए आप एक ग्लास गुनगुने पानी में एक चम्मच हल्दी पाउडर और एक चम्मच शहद का मिला दीजिए. अब इन सभी को चम्मच की सहयता से अच्छे से मिक्स कर ले. आपको ये मिश्रण रोजाना रात में सोने से पहले पीना हैं. ऐसा आप 8 से 10 दिन तक करेंगे तो आपको फर्क नज़र आने लगेगा. ये रात में आने वाली खर्राटो को बंद करने का सबसे असरदार व सस्ता नुस्खा हैं.

Loading...
loading...
E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker