नफरती किताबें पढ़कर हिन्दुओं के खिलाफ जहर घोल रहा था शरजील: दंगों की चार्जशीट में खुलासा

दिल्ली दंगों को लेकर पुलिस की चार्जशीट से सनसनीखेज खुलासे हो रहे हैं. चार्जशीट में जेएनयू के छात्र और दिल्ली दंगों में आरोपी शरजील इमाम को लेकर बड़ा खुलासा हूआ है. रिपोर्ट बताती है कि चार्जशीट में उन किताबों का भी जिक्र है जो शरजील पढ़ा करता था. इन नफरत से भरी इन किताबों को उनके माइंडसेट के लिए जिम्मेदार माना गया है.

Loading...

चार्जशीट में यह भी कहा गया है कि शरजील हिंदू और मुसलमानों के बीच विभेद करते हैं बल्कि दोनों समुदाय के बीच दूरी बढ़ाने वाले काम भी करते हैं. शरजील को सात मामलों में आरोपी बनाया गया है. गौरतलब है कि 28 जनवरी को गिरफ्तार किए गए शरजील इस वक्त न्यायिक हिरासत में हैं.

पटियाला हाउस कोर्ट में एडिशनल सेशन जज धर्मेंद्र राणा के समक्ष शरजील को लेकर पेश की गई करीब 600 पेज की चार्जशीट में सीएए विरोधी भाषणों का जिक्र किया गया है. साथ मुस्लिम स्टूडेंट्स ऑफ जेएनयू नाम के एक वाट्सऐप ग्रुप का भी जिक्र किया गया है. चार्जशीट में कहा गया है-अपने भाषणों में शरजील ने लोगों को भड़काने की कोशिश की थी जिससे शांति व्यवस्था भंग हो. लोकतांत्रिक रूप से चुनी गई सरकार के खिलाफ आक्रोश पैदा करने की कोशिश की गई.

बता दें कि दिल्ली दंगों की चार्जशीट में सलमान खुर्शीद और बृंदा करात का नाम भी आया है. सुरक्षा प्राप्त गवाह ने बयान में कहा है कि कई जाने माने लोग मसलन नेता उदित राज, पूर्व केंद्रीय मंत्री खुर्शीद, बृंदा करात खुरेजी स्थित प्रदर्शन स्थल पर आए थे. उन्होंने ‘भड़काऊ भाषण’ दिए. गवाह ने कहा है कि उदित राज, सलमान खुर्शीद, बृंदा करात, उमर खालिद जैसे कई लोग CAA, NPR और NRC के खिलाफ भाषण देने प्रदर्शन स्थल पर आया करते थे.

Loading...
loading...
E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker