बसंत मेले में लगा ग्रहण जनता में भारी आक्रोश

व्यापार मंडल कर रहा है मेले का विरोध

पुरोला। पुरोला नगर पंचायत के अंतर्गत जनवरी माह में कमल नदी तट पर खेल मैदान में लगने वाले बसंत मेले पर इस साल स्थानीय व्यापारियों के विरोध का ग्रहण लग गया है। व्यापार मंडल के विरोध व कानून व्यवस्था का ज्ञापन पर उपजिलाधिकारी सोहन सिंह सैनी ने मेला आयोजन की पूर्व में दी गई अनुमति को कर निरस्त कर दिया। जिससे क्षेत्रीय जनता में खासी मायूसी व आक्रोश भी व्याप्त है।
पुरोला नगर पंचायत क्षेत्र में हर वर्ष जनवरी माह में कमल नदी के तट पर खेल मैदान में बसंत मेला लगता है, जहां सांस्कृतिक व व्यापारिक महत्व के साथ साथ क्षेत्रीय जनता के लिए खरीददारी का केंद्र रहता है। मेले में रामा व कमल सिरांई क्षेत्र दूर-दराज गांव 62 गांव के लोग रोजमर्रा की सस्ती घरेलू वस्तुओं की खरीददारी को वर्षभर बेसबरी से इंतजार करते हैं। इस बार मेले का आयोजन न हो पाने से लोग जंहा मायूस हैं जबकि व्यापार मंडल के मेले का विरोध के चलते भारी आक्रोश है। नपंअ हरिमोहन नेगी का कहना है कि हमारी और से मेले की पूरी तैयारी है व्यापार मंडल न जाने क्यों विरोध कर रहा है जबकि व्यापार मंडल के लिए स्टॉल लगाने की भी मेले में व्यवस्था की जाती है,कोई स्थानीय व्यापारी भी मेले में स्टॉल लगा सकता है। मेले को निरस्त करवाने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया कहा कि यह मेला क्षेत्रीय गरीब जनता के लिए बहुत ही लाभदायक है,लोगों को सस्ते दरों में दैनिक उपयोग की वस्तुएँ खरीदने का सालभर में एक बार ही मौका मिलता है।

Loading...
loading...
E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker