आयकर और जीएसटी रिटर्न की सीमा 30 जून, कोरोना पर आर्थिक पैकेज जल्‍द: वित मंत्री

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को कोरोना वायरस की महामारी से जूझ रहे देश की अर्थव्‍यवस्‍था को राहत देने का ऐलान किया है। उन्होंने इनकम टैक्स एवं जीएसटी के अनुपालन से जुड़े मुद्दों पर कई तरह की राहत देने की बात की है।

Loading...

सीतारमण ने कहा कि वित्त वर्ष 2018-19 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करने की समय-सीमा बढ़ाकर 30 जून, 2020 कर दी गई है। साथ ही इस अवधि में विलंबित इनकम टैक्स पर ब्याज को 12 फीसदी से घटाकर 9 फीसदी कर दिया है। टीडीएस जमा करने के लिए समय-सीमा नहीं बढ़ाई गई, लेकिन ब्याज को 18 फीसदी से घटाकर 9 फीसद किया गया है। आधार-पैन लिंक की तारीख 30 जून तक बढ़ा दी है। पहले डेडलाइन 31 मार्च तक थी।

वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए मीडिया को संबोधित करते हुए निर्मला सीतारमण ने कहा कि कोरोना वायरस पर जल्‍द ही राहत पैकेज का ऐलान किया जाएगा। उन्होंने ये तमाम ऐलान ऐसे समय में किया है जब देश की अर्थव्यवस्था कोरोना वायरस की वजह से नए तरह के संकट में फंसती दिख रही है। इस मौके पर वित्‍त राज्‍य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर और वित्‍त सचिव भी मौजूद थे।

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने चार दिन पहले राष्ट्र के नाम संबोधन में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में एक स्पेशल टास्क फोर्स कोविड-19 का गठन करने की बात कही थी। यह फोर्स मौजूदा हालत में आर्थिक सुधारों को लेकर सुझाव देगी। वित्‍त मंत्री ने इससे पहले राज्‍यों को पब्लिक डिस्‍ट्रीब्‍यूशन सिस्‍टम (पीडीएस) के तहत अनाज उठाने में सहूलियत देने की घोषणा की थी।

भारत पहले ही सकल घरेलू उत्‍पाद (जीडीपी) ग्रोथ में गिरावट की समस्‍या से जूझ रहा है। वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मंगलवार की शाम आठ बजे एक बार फिर राष्ट्र को संबोधित करेंगे। वह एक हफ्ते के भीतर दूसरी बार देशवासियों को संबोधित करेंगे। उन्होंने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है। उम्मीद की जा रही है कि प्रधानमंत्री इस दौरान कुछ अहम ऐलान कर सकते हैं।

Loading...
loading...
E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker