मैनपुरी में लव जिहाद का मामला : हिंदूवादी नेताओं ने किया ऐलान, चार दिन में युवती नही मिली तो…




मैनपुरी- कोतवाली सदर क्षेत्र के एक मोहल्ला निवासी युवती को एक गैर समुदाय के युवक द्वारा अपना धर्म गलत बताकर प्रेमजाल में फंसाकर अपने साथ ले जाने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। मामले में हिंदूवादी नेताओं ने एकत्र होकर पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा है कि युवती को पुलिस ने चार दिन में बरामद नहीं किया तो वह उग्र आंदोलन करने को बाध्य होगे। उन्होने मामले की शिकायत मुख्यमंत्री से करने की बात भी कही है।


विश्व हिंदू परिषद के जिलाध्यक्ष सुमित चैहान और धर्म जागरण समन्वय के जिला संयोजक सुभाष मिश्रा ने प्रेसवार्ता कर कहा कि शहर का रहने वाला दूसरे समुदाय का युवक आठ नवंबर को एक युवती को बहला फुसलाकर ले गया है। युवती के पिता की तहरीर पर पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर ली। हिंदूवादी नेताओं के दवाब में 28 नवंबर को पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की। रिपोर्ट दर्ज होने बाद भी पुलिस आरोपी की तलाश नहीं कर रही है। जब कि आरोपी युवक के परिवारी पीड़ित पक्ष को लगातार धमकी दे रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया मामले में पुलिस की कार्यशैली ठीक नही है। पुलिस आरोपी पक्ष को पूरा मौका दे रही है। युवती को बरामद करने के लिए कोई प्रयास नहीं कर रही है। हिंदूवादी नेता ने चेतावनी दी कि अगर चार दिन में युवती बरामद नहीं की गई तो हिंदूवादी संगठन पीड़ित परिवार को साथ लेकर आंदोलन करेंगे। पुलिस कार्यशैली के संबंध में मुख्यमंत्री से भी शिकायत की जाएगी।


गौरतलव है कि कोतवाली सदर केे मोहल्ला निवासी एक व्यक्ति के घर आर ओ प्लांट से पीने का पानी देने के लिए एक युवक आता था। उसने अपना नाम और धर्म गलत बताकर अपना नाम आॅशू तिवारी बताया था। आरोपी युवक ने नाम और धर्म गलत बताकर युवती को प्रेमजाल में फंसा लिया। और 8 नवंबर की रात्रि युवती को लेकर गायव हो गया। पता करने पर युवती के परिजनों को जानकारी हुई थी। तब थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई बाद में पता करने पर मालूम पड़ा कि जो युवक पानी देने के लिए आता था। वह आॅशू तिवारी नही आसू मंसूरी है। युवती के भाई ने तहरीर देकर आरोपी युवक के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कराया था।

Back to top button
E-Paper