लालू की बहू के सहारे एनडीए ने रचा महाचक्रव्यूह, तेज-तेजस्वी पर मंडराया धर्मसंकट

बिहार में इसी साल अक्टूबर-नवंबर में विधानसभा चुनाव होने हैं, ऐसे में सभी पार्टियां अभी से चुनाव की तैयारियों में जुटी हुई है, कहीं रैलियों के जरिये तो कोई यात्रा के सहारे बिहार की जनता को साधने में लगा हुआ है, तमाम राजनीतिक दल बिहार की सत्ता पाने के लिये हर तरह के दांव-पेंच आजमाने को तैयार है, एनडीए ने भी लालू प्रसाद यादव के दोनों बेटों के लिये ऐसा महाचक्रव्यूह रचा है, जिसे भेद पाना तेज-तेजस्वी के लिये आसान नहीं होगा।

Loading...

बिहार की राजनीति के ‘अभिमन्यु’

दरअसल पूर्व सीएम लालू यादव के दोनों बेटे को बिहार की राजनीति का अभिमन्यु कहा जा रहा है, जिन्हे घेरने के लिये एनडीए ने लालू की बहू ऐश्वर्या राय के सहारे महाचक्रव्यूह रचा है, अंदरखाने खबर है कि लालू परिवार खासकर तेज-तेजस्वी इस बात से बेहद सशंकित हैं कि कहीं विरोधी उनके खिलाफ कोई बड़ी प्लानिंग तो नहीं कर रहे, बीजेपी विधायक मिथलेश तिवारी ने ये कहकर सनसनी फैला दी कि तेज प्रताप और तेजस्वी दोनों ऐश्वर्या के डर से अपने विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने को तैयार नहीं हैं, दोनों भाइयों को इस बात का डर सता रहा है कि कहीं ऐश्व्रया उनके खिलाफ चुनाव लड़करप सेंटिमेंट वोट हासिल ना कर ले, अगर वो चुनावी मैदान में उतरी तो लालू के लाल की हार पक्की है।

तेज-तेजस्वी का धर्मसंकट

सूत्रों का दावा है कि लालू के दोनों बेटे इस बात से बेहद परेशान हैं कि कहीं एनडीए अपनी चाल में कामयाब हो गया, तो दोनों भाइयों का राजनीतिक करियर दांव पर लग जायेगा, यही वजह है कि तेज प्रताप अपने विधानसभा महुआ को छोड़कर कभी बख्तियारपुर तो कभी मनेर का ताबड़तोड़ दौरा कर रहे हैं।

संभावनाओं की तलाश जारी

बिहार के सियासी गलियारों में इस बात की खूब चर्चा हो रही है, कि ऐश्वर्या से ज्यादा खतरा छोटे भाई तेजस्वी यादव को है, इसी वजह से तेजस्वी राघोपुर के अलावे दूसरी संभावनाएं भी तलाश रहे हैं, कहा जा रहा है कि इस बार वो दो सीट से चुनावी मैदान में उतर सकते हैं, राजद के विश्वस्त सूत्र का कहना है कि तेजस्वी या तेजप्रताप दोनों में से एक भाई विधान परिषद के रास्ते एमएलसी बनकर अपनी राह सुरक्षित कर सकते हैं, ताकि विरोधी अपनी चाल में कामयाब नहीं हो सके।

राजद ने दावे को किया खारिज

बीजेपी के बयान से ये तो जाहिर हो गया कि ऐश्वर्या के सहारे तेज-तेजस्वी को घेरने के लिये चक्रव्यूह रचा जा रहा है, राजद के भीतर इस बात को लेकर बहुत रिएक्शन हैं, हालांकि मीडिया के कैमरे के सामने कोई भी बोलने को तैयार नहीं है, राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि एनडीए कितना भी जोर लगा ले, 2020 विधानसभा चुनाव में तेज-तेजस्वी के विजय रथ को रोक पाना उनके लिये मुश्किल होगा।

पत्नी से चल रहा है विवाद

आपको बता दें कि लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप का उनकी पत्नी ऐश्वर्या राय के साथ विवाद चल रहा है, पिछले दिनों उनके ससुर चंद्रिका राय ने राजद छोड़ने का ऐलान कर दिया, इसके साथ ही उन्होने नीतीश की पार्टी जदयू में जाने की भी बात कही थी, हालांकि ऐश्वर्या के राजनीति में आने पर उन्होने कुछ भी नहीं कहा, लेकिन कहा जा रहा है कि राजद को घेरने के लिये बीजेपी-जदयू बड़ा दांव खेल सकती है।

Loading...
loading...
E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker