नवरात्र : सुखी वैवाहिक जीवन जीने के आज ही करे आसान उपाय, फिर देखे कैसे बदलती है किस्मत

साल में दो बार आने वाले नवरात्र हिंदू धर्म में सबसे ज्‍यादा शुभ माने जाते हैं । अगर आपका कोई काम नहीं बन रहा है तो आप इन दिनों में उन्‍हें पूरा कर सकते हैं । अगर आप किसी शुभ दिन के इंतजार में हैं तो साल के ये 18 दिन, किसी भी काम की शुरुआत के लिए सबसे शुभ हैं । इन नौ दिनों की तंत्र शास्‍त्र में भी बड़ी मान्‍यता है, कुछ ऐसे टोटके बताए गए हैं जिनका इस्‍तेमाल कर आप रोजमर्रा से जुड़ी कई समस्‍याओं का हल पा सकते हैं ।

Loading...

साल में दो बार आने वाले नवरात्र हिंदू धर्म में सबसे ज्‍यादा शुभ माने जाते हैं । अगर आपका कोई काम नहीं बन रहा है तो आप इन दिनों में उन्‍हें पूरा कर सकते हैं । अगर आप किसी शुभ दिन के इंतजार में हैं तो साल के ये 18 दिन, किसी भी काम की शुरुआत के लिए सबसे शुभ हैं । इन नौ दिनों की तंत्र शास्‍त्र में भी बड़ी मान्‍यता है, कुछ ऐसे टोटके बताए गए हैं जिनका इस्‍तेमाल कर आप रोजमर्रा से जुड़ी कई समस्‍याओं का हल पा सकते हैं ।

पहली समस्या- दांपत्य सुख में आ रही बाधाएं

यदि नवविवाहित जीवनसाथी से अनबन होती रहती है तो नवरात्रि के दिन पूरी श्रद्धा से हर रोज दोनों पति पत्नी 108 बार नीचे लिखे मंत्र से जल्ती अग्नि में हवन कुंड में गाये घी से आहुतियां दें । 9 दिनों तक इस उपाय को करने से माता रानी की कृपा से सब कुछ ठीक हो जायेगा ।।

मंत्र-

सब नर करहिं परस्पर प्रीति ।
चलहिं स्वधर्म निरत श्रुति नीति ।।

दुसरी समस्या- युवतियों को मनपसंद वर तलाश

– चैत्र नवरात्रि में पूरे 9 दिनों तक युवती ऐसे शिव मंदिर में जाएं जहां शिव – पार्वती एक साथ विराजमान हो- अब गाय का दूध दोनों को चढ़ाकर पंचोपचार पूजन (चंदन, पुष्प, धूप, दीप एवं नैवेद्य) से करें । पूजन के बाद शिव – पार्वती दोनों का लाल मौली से गठबंधन करने के बाद वहीं बैठकर लाल चंदन की माला से नीचे दिये मंत्र हर रोज 9 दिनों तक 1018 बार अपनी मनोकामना पूर्ति की कामना से जप करें । शीघ्र ही मां पार्वती की कृपा से आपको सुयोग्य वर की प्राप्ति होगी ।

हे गौरी शंकरार्धांगी, यथा त्वं शंकर प्रिया ।
तथा मां कुरु कल्याणी, कान्त कान्तां सुदुर्लभाम् ।।

तीसरी समस्या- युवकों को मनचाही दुल्हन की तलाश

– अगर किसी युवक को मनचाहा जीवन साथी नहीं मिल पा रहा हो तो नवरात्रि काल में पूरे 9 दिनों तक हर रोज ठीक सूर्योदय के समय शिव मंदिर में दूध, दही, घी, शहद और शक्कर का भोग लगाये या दुध अभिषेक करें । भगवान शिव की चंदन, पुष्प एवं धूप, दीप आदि से पूजा-अर्चना करें । संभव हो तो पूरे 9 दिन रात्रि में 10 बजे से 11 बजे के बीच- ऊँ नम: शिवाय मंत्र का उच्चारण करते हुए गाय के घी से 108 आहुति का हवन करें । पूजन से पहले पूरे मंदिर में झाड़ू जरूर लगायें । इस उपाय से शीघ्र ही आपकी मनोकामना पूर्ण होगी और मनचाही जीवन साथी (दुल्हन) मिलेगी ।

रोजगार की समस्‍या
अगर आप पढ़े लिखें, समर्थ हैं इसके बावजूद आपको रोजगार नहीं मिल रहा है तो इस अष्‍टमी को आपको एक विशेष पूजा अर्चना करनी होगी । स्‍नान आदि कर, नए स्‍वच्‍छ वस्‍त्र पहनकर इस मंत्र का जप प्रारंभ करें ।  करीब 21 से 31 दिन तक प्रात: काल या संध्‍या काल में इस मंत्र का जाप करें, रोजगार प्राप्ति के नए रास्‍ते खुलेंगे । मंत्र इस प्रकार है – ‘ऊं हृीं वाग्वादिनी भगवती मम कार्य सिद्धि कुरु कुरु फट् स्वाहा’ ।

धन लाभ के लिए उपाय
यदि आप व्‍यापार क्षेत्र में हैं और हानि का सामना कर रहे हैं तो ये उपाय जरूर करें । अपने पूजा घर में या मंदिर में उत्‍तर दिशा की ओर मुंह करके बैठ जाएंगे । अब श्रीयंत्र ले आएं और इसे लेकर एक उपाय करें ।  मुठ्ठी भर चावल लें, इसमें कुमकुम मिलाएं और अब इन चावलों की ढेरी बनाकर इस पर श्रीयंत्र स्‍थापित कर दें । श्रीयंत्र के सम्‍मुख 9 तेल के दिए जलाएं । अष्‍टमी या नवमी, जब भी पूजा का उद्यापन करें तो चावल को नदी में बहाएं और श्रीयंत्र को अपने तिजोरी में रख लें ।

कर्ज मुक्ति के लिए उपाय
यदि आप पर बहुत अधिक कर्ज हो गया है तो एक उपाय करें, नवरात्र के दिनों में मां दुर्गा के समक्ष 108 गुलाब के पुष्‍प चढ़ाएं ।  डेढ़ किलो लाल मसूर की दाल अर्पित करें । अब माता से अपनी कर्ज मुक्ति की कामना करें । पूजा के बाद दाल को खुद के ऊपर से उतार कर जैसे नजर के लिए करते हैं किसी सफाई कर्मचारी को दान में दे दें, आपको कर्ज से मुक्ति मिलेगी और व्‍यापार, नौकरी में लाभ भी होगा ।

Loading...
loading...
E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker