OMG : बिना लाइट जले, घर पहुंचा 4 हजार का बिल

विकास खंड तेजवापुर कीर्तनपुर के बग्गरपुरवा में प्रर्दशन करते ग्रामीण

ग्रामीणों में आक्रोश,जमकर प्रदर्शन

बहराइच। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ड्रीम प्रोजेक्ट सौभाग्य योजना में ठेकेदार खानापूर्ति कर इतिश्री कर लिया है।ठेकेदारों ने सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट का दिवाला निकाल दिया है तो कहीं इस योजना की आड़ में ग्रामीणों का शोषण भी हुआ है। और कहीं पर सरकार के पैसों का दुरुपयोग भी किया गया है। ठेकेदारों ने योजना को सिर्फ कागजों में पूरा किया है । विकासखंड तेजवापुर के अंतर्गत ग्राम पंचायत कीर्तनपुर के मजरा बग्गर पुरवा में बीते डेढ़ वर्ष पूर्व सौभाग्य योजना के अंतर्गत विद्युतीकरण कराया गया था जिसमें बगैर पुरवा के 35 कनेक्शन धारकों ने कनेक्शन लिया था सभी के घरों में विद्युत मीटर स्थापित किया गया था लेकिन डेढ़ वर्ष के बाद भी अभी तक गांव में लाइट नहीं पहुंची है ग्रामीणों ने बताया की गांव को आने वाली 11 हजार की लाइन को निकालने के लिए बीच में 33 हजार की लाइन पड़ रही थी।

जिसकी वजह से काम अभी अधूरा पड़ा हुआ है 33 हजार की की लाइन को पार कराने के लिए विद्युतीकरण कर रहे ठेकेदारों ने ग्रामीणों से भूमिगत केबल डालने की बात कही और उसके लिए सुविधा शुल्क भी वसूल लिया। केबल तो भूमिगत हो गयी लेकिन केबल में लगने किट न होने की वजह से अभी तक गांव में बिजली नहीं पहुंचीं है। जबकि बिना मीटर चले ही ग्रामीणों के घर 4000 से 5000 के बीच बिजली की बिल पहुंच गई है।

ऐसे में ग्रामीणों के माथे पर चिंता की लकीरें दौड़ गई हैं वहीं ग्रामीणों में विद्युत विभाग की लापरवाही के खिलाफ आक्रोश व्याप्त है ग्रामीणों ने बताया कि समस्या की शिकायत विद्युत विभाग के आला अधिकारियों समेत विभाग की हेल्पलाइन नंबर 1912 पर भी शिकायत दर्ज कराई गई है लेकिन समस्या का समाधान नहीं हो सका है शनिवार को ग्रामीणों ने प्रदर्शन कर अपना आक्रोश जताया और बिजली विभाग विभाग के खिलाफ नारेबाजी भी किया । ग्रामीणों ने बताया कि यदि जल्द भूमिगत केबल में किट लगा कर लाइन को नहीं जोड़ा जाता है तो सभी ग्रामीण जिला मुख्यालय पर धरने को विवश होंगे जिसका उत्तरदायी स्वयं बिजली विभाग होगा।

Back to top button
E-Paper