ध्यान दें! 30 जून के बाद बदल जाएंगे बैंक खाते से जुड़े ये नियम, नहीं मिलेगी छूट

नई दिल्ली :  जून का महीना खत्म होने में बस एक दिन बचा है। ऐसे में आपके लिए ये जानना जरूरी है कि 30 जून के बाद यानी 1 जुलाई से आपके बैंक खाते से जुड़े कुछ नियम बदल जाएंगे। कोरोना वायरस के मद्देनजर निर्मला सीतारमण ने ऐलान किया था कि किसी को भी 30 जून तक न्यूनतम बैलेंस (Minimum balance) रखने की अनिवार्यता नहीं होगी और अब वो मियाद कल यानी 30 जून को खत्म हो रही है। बता दें कि हर बैंक कुछ न्यूनतम बैलेंस रखवाते हैं और वैसा नहीं करने पर ग्राहकों को पेनाल्टी देनी होती है। अभी तक किसी भी बैंक ने इस राहत को आगे बढ़ाने की बात नहीं कही है, इसलिए माना जा रहा है कि 30 जून के बाद ये सब बंद होंगे। एटीएम (ATM withdrawal) से जुड़ी राहत भी लोगों को मिली थी, जो अब नहीं रहेगी।

Loading...

SBI ने दी थी ये खास सुविधा

मोदी सरकार के ऐलान से भी पहले भारतीय स्टेट बैंक ने ये कह दिया था कि वो सभी सेविंग अकाउंट पर न्यूनतम बैलेंस की बाध्यता को खत्म कर रहा है। SBI ने एक बयान में कहा था- एसबीआई के सभी 44.51 करोड़ सेविंग्स बैंक अकाउंट पर औसत न्यूनतम बैलेंस नहीं रखने पर कोई चार्ज नहीं लिया जायेगा। अब तक बैंक की तरफ से कोई नई घोषणा नहीं हुई है तो माना जा रहा है कि ये सुविधा अभी आगे भी जारी रह सकती है। बता दें SBI आमतौर पर मेट्रो शहरों में 3000, अर्ध-शहरी इलाकों में 2000 और ग्रामीण इलाकों में 1000 रुपए का न्यूनतम बैलेंस रखने को कहता है। ऐसा ना करने वालों पर 5-15 रुपये और टैक्स वसूला जाता है।

दूसरे बैंक के ATM से पैसे निकालने का नियम

कोरोना वायरस महामारी की वजह से वित्त मंत्रालय ने इस बात की छूट दी थी कि 30 जून तक किसी भी बैंक के डेबिट/ATM कार्ड से किसी भी बैंक ATM से नकदी निकाल सकते हैं। वित्त मंत्रालय के निर्देशों के अनुसार इसके लिए कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा। बता दें कि सामान्य तौर पर दूसरे बैंक के एटीएम से एक निश्चित संख्या तक ही पैसे निकाले जा सकते हैं, उसके बाद निकासी पर चार्ज लगता है।

HDFC बैंक में क्या है नियम?

न्यूनतम बैलेंस नहीं रखने का सरकार का आदेश प्राइवेट बैंकों पर भी लागू है, लेकिन HDFC जैसे बड़े बैंकों की कमाई में न्यूनतम बैलेंस एक बड़ी भूमिका अदा करते हैं। ऐसे में समय सीमा 30 जून को खत्म होने के बाद उम्मीद है कि बैंक फिर से न्यूनतम बैलेंस का बाध्यता शुरू कर दे। बता दें कि HDFC बैंक में 10 हजार रुपए न्यूनतम बैलेंस रखना जरूरी होता है। वहीं अर्ध शहरी इलाकों में ये सीमा 5000 रुपए है, जबकि ग्रामीण इलाकों में 2500 रुपए है।

ICICI का नियम भी जानिए

न्यूनतम बैलेंस से ICICI की भी खूब कमाई होती है, ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि बैंक न्यूनतम बैलेंस चार्ज लेना शुरू कर देगा। मेट्रो और शहरी इलाकों में ICICI में 10 हजार रुपए न्यूनतम बैलेंस रखना जरूरी होता है। वहीं अर्ध शहरी इलाकों में ये सीमा 5000 रुपए और ग्रामीण क्षेत्रों में 2000 रुपए है। मिनिमम बैलेंस नहीं रखने पर आईसीआईसीआई बैंक मेट्रो, शहरी और अर्ध-शहरी इलाकों में ग्राहकों से 100 रुपये और जितनी रकम कम है, उसका 5 फीसदी चार्ज के तौर पर वसूलता है।

Loading...
loading...
div#fvfeedbackbutton35999{ position:fixed; top:50%; right:0%; } div#fvfeedbackbutton35999 a{ text-decoration: none; } div#fvfeedbackbutton35999 span { background-color:#fc9f00; display:block; padding:8px; font-weight: bold; color:#fff; font-size: 18px !important; font-family: Arial, sans-serif !important; height:100%; float:right; margin-right:42px; transform-origin: right top 0; transform: rotate(270deg); -webkit-transform: rotate(270deg); -webkit-transform-origin: right top; -moz-transform: rotate(270deg); -moz-transform-origin: right top; -o-transform: rotate(270deg); -o-transform-origin: right top; -ms-transform: rotate(270deg); -ms-transform-origin: right top; filter: progid:DXImageTransform.Microsoft.BasicImage(rotation=4); } div#fvfeedbackbutton35999 span:hover { background-color:#ad0500; }
E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker