प्रधानमंत्री मोदी ने मुजफ्फरपुर में एनडीए के पक्ष में मांगा समर्थन, कहा-जंगलराज वालों के पास अपहरण का कॉपीराइट है

जंगलराज के युवराज नहीं कर सकते बिहार का विकासः नरेंद्र मोदी
28/10/2020
प्रधानमंत्री मोदी ने मुजफ्फरपुर में की एनडीए के पक्ष में सभा, मांगा समर्थन
कहा, जंगलराज वालों के पास अपहरण का कॉपीराइट है
जंगलराज की परंपरा से आनेवालों को बिहार की जनता सबक सिखाएगी
विकास और सुशासन को सर्वोपरि रखने वाली सरकार की जरूरत

पटना, । प्रधानंत्री नरेंद्र मोदी दरभंगा के बाद मुजफ्फरपुर की सभा में काफी आक्रामक दिखे। उन्‍होंने विपक्षी गठबंधन पर खूब हमले किए। तेजस्वी यादव को जंगलराज का युवराज बताया। उन्होंने कहा कि जंगलराज के युवराज बिहार का विकास नहीं कर सकते हैं। जंगलराज वालों के पास अपहरण का कॉपीराइट है। यदि ये लोग सत्‍ता में आ गए तो फिर से बिहार अपहरण का बाजार बन जाएगा। जो लोग बिहार को बंद करने के लिए बदनाम हैं, जिनसे निवेशक कोसों दूर भागते हैं, सरकारी नौकरी तो छोड़िए, इनके आने के बाद नौकरी देने वाली प्राइवेट कंपनियां भी नौ दो ग्यारह हो जाएंगी। बिहार के लोग इसे कभी नहीं भूल सकते। इन लोगों के पास बिहार के विकास का न तो कोई रोड मैप है और न ही कोई अनुभव। जो जंगलराज की परंपरा से आए हैं, उन्हें बिहार की जनता सबक सिखाएगी। इसलिए यह वक्त अनुभवी लोगों को चुनने का है। हवा हवाई बातें करने वालों का नहीं।

प्रधानमंत्री ने बिहार को बीमार होने से बचाने के लिए एनडीए को वोट देने की अपील करते हुए कहा कि वो दल, जिन्होंने बिहार को अराजकता दी, कुशासन दिया, वो फिर मौका खोज रहे हैं। जिन्होंने बिहार के नौजवानों को गरीबी और पलायन दिया, सिर्फ अपने परिवार को हजारों करोड़ का मालिक बना दिया, वो फिर मौका चाहते हैं जबकि इनका वादा झूठ और भ्रम पर आधारित है। प्रधानमंत्री ने आरजेडी पर निशाना साधते हुए कहा कि आप कल्पना कर सकते हैं, एक तरफ महामारी हो और साथ ही जंगलराज वाले राज करने आ जाएं तो ये बिहार के लोगों पर दोहरी मार की तरह हो जाएगा। जंगलराज के युवराज से बिहार की जनता पुराने ट्रैक रिकॉर्ड के आधार पर और क्या अपेक्षा कर सकती है।

आरजेडी पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि ये वो लोग हैं जिनके राज में बिहार में अपराध इतना फला-फूला कि लोगों का जीना मुहाल हो गया था। ये वो लोग हैं जो किसान कर्जमाफी की बात करके, कर्जमाफी के पैसे में भी घोटाला कर जाते हैं। एक तरफ एनडीए आत्मनिर्भर बिहार बनाने का संकल्प लेकर खड़ा है और दूसरी तरफ वे लोग हैं जो बिहार की विकास परियोजनाओं के पैसों पर नजरें गड़ाए हुए हैं।

यह चुनाव बिहार का भविष्य तय करेगा

प्रधानमंत्री ने कहा कि ये चुनाव आने वाले दशक में, इस सदी में बिहार के भविष्य को तय करेगा। आपका एक वोट ये तय करेगा कि आत्मनिर्भरता का संकल्प लेकर निकले भारत में बिहार की भूमिका क्या होगी। आपका एक वोट तय करेगा कि आत्मनिर्भर बिहार का लक्ष्य कितनी तेज़ी से हम पूरा कर पाएंगे। सरकार इंफ्रास्ट्रक्चर पर जो निवेश कर रही है, गांवों के पास बेहतर सुविधाएं विकसित करने पर जोर दे रही है, उसका लाभ बिहार के लोगों को मिलने वाला है। इसके लिए एक लाख करोड़ रुपये का स्पेशल फंड बनाया गया है।

बिहार के हर जिले में खासियत, तीर्थाटन, हैरिटेज टूरिज्म के भी महत्वपूर्ण सेंटर

प्रधानमंत्री ने कहा कि बिहार के हर जिले में खासियत है। मुज़फ्फरपुर हो, वैशाली हो, सीतामढ़ी हो, ये पूरा क्षेत्र बिहार के अहम व्यापारिक केंद्र भी हैं। बिहार में तीर्थाटन, हैरिटेज टूरिज्म के भी महत्वपूर्ण सेंटर हैं। ऐसे में यहां के शहरों के सुंदरीकरण पर और सामान्य सुविधाओं का निर्माण एनडीए सरकार की प्रतिबद्धता है। उन्होंने कहा कि मुज़फ्फरपुर में नया एलपीजी प्लांट लगा है। इसके अलावा पटना और पूर्णिया में भी एलपीजी प्लांट्स के विस्तार किये गये हैं। सिर्फ एलपीजी ही नहीं इस पाइपलाइन से बिहार के अनेक जिलों में, अनेक शहरों में पाइप से सस्ती गैस पहुंचाई जा रही है।

एनडीए का मतलब बीजेपी, जदयू, वीआईपी और हम

प्रधानमंत्री ने रैली में एनडीए को परिभाषित किया। कहा कि एनडीए मतलब बीजेपी, जदयू, वीआईपी और हम। आप लोग एनडीए को वोट दें। उन्होंने कहा कि इस बार बिहार का चुनाव बहुत ही असाधारण परिस्थिति में हो रहा है। कोरोना के कारण आज पूरी दुनिया चिंता में है। महामारी के समय में बिहार को स्थिर सरकार बनाए रखने की जरूरत है। विकास और सुशासन को सर्वोपरि रखने वाली सरकार की जरूरत है।

E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker