गर्भावस्था में माँ बच्चे का रखें विशेष ख्याल, चाहे बैंक हो या बाजार

हर माँ बच्चे की जान है प्यारी, हर कदम पर दिखाएं समझदारी

क़ुतुब अंसारी 
बहराइच l अगर आप गर्भवती हैं और आप बैंक जा रही हैं तो यह खबर आपके लिए है | बैंक के मुख्य द्वार के चैनल गेट पर जंजीर लगाया जाता है | यह इतना सकरा है कि एक बार मे एक ही व्यक्ति मुश्किल से निकल सकता है | सुरक्षा की दृष्टि से तो यह ठीक है लेकिन इतने सकरे रास्ते से किसी गर्भवती महिला का  निकलना किसी चुनौती से कम नहीं होता है | थोड़ी सी चूक माँ और बच्चे दोनों के लिए समस्या पैदा कर सकती है | जागरूकता के अभाव मे चुप रह कर अक्सर महिलाएं इस तरह का जोखिम उठाती रहती हैं | जबकि ऐसी स्थिति मे बैंक मैनेजर को सूचना देकर जंजीर खुलवाने का प्रविधान है|  यह बैंक सिर्फ एक उदाहरण है, ऐसे कई सार्वजनिक स्थान हैं जहां ऐसी महिलाओं को कई अलग-अलग मुश्किलों का सामना करना पड़ता है |
 माँ और बच्चे के बेहतर स्वास्थ्य के लिए राज्य और केंद्र सरकार द्वारा कई योजनाएँ चलायी जा रही हैं | जिसका लाभ सीधे उनके बैंक खातों मे भेजा जाता है | ब्यक्तिगत काम के अलावा इन लाभों के लिए भी गर्भवती महिलाओं को बैंक के सकरे रास्ते से गुजरने का जोखिम लेना ही पड़ता है | मेडिकल कालेज की चिकित्सा अधिकारी स्त्री एवं प्रसूत रोग विशेषज्ञ डॉ अंजू श्रीवास्तव ने बताया थोड़ी सी चूक माँ को चोट पहुंचा सकती है | यह इस बात पर निर्भर करेगा कि माँ को कितनी चोट लगी है | हालांकि चोट थोड़ी हो या अधिक माँ और बच्चे दोनों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है |
गर्भावस्था मे ऐसी स्थितियों से बचना चाहिए | उन्होने लोगों से अपील की गर्भावस्था मे महिलाओं की देखभाल, सहायता, सहयोग और उचित सलाह हम सबकी ज़िम्मेदारी है, हमे आगे बढ़कर इनका सहयोग करना चाहिए वह जगह चाहे वह बैंक हो या बाज़ार हो या कोई भी सार्वजनिक स्थान हो |
विक्रांत सिंह प्रबन्धक आर्यावर्त बैंक शाखा गड़वा ने बताया सुरक्षा की दृष्टि से चैनल गेट पर अनिवार्य रूप से दो जंजीर लगाने का प्राविधान रिजर्व बैंक की तरफ से किया गया है | एक जंजीर जमीन से 1.5 फुट पर दूसरी जंजीर की ऊंचाई सीने तक रहती है वहीं इसकी चौड़ाई इतनी रखी जाती है कि ब्यक्ति सीधे तौर पर गेट से अंदर या बाहर न निकल सके | समय-समय पर इसकी जांच पुलिक विभाग की तरफ से भी किया जाता है | उन्होने बताया शारीरिक रूप से अक्षम ब्यक्ति या ऐसी महिलाएं जो गर्भ से हैं, बैंक मैनेजर को सूचना देकर जंजीर को खुलवा सकती हैं | ऐसे लोगों के लिए विशेष प्राविधान किए गए हैं | इस सुविधा का लाभ उठाकर जोखिम से बचा जा सकता है |
Loading...
loading...
E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker