अपनी पत्नी के गुलाम होते है ये 4 नाम वाले मर्द, कही आप भी तो नहीं…

कहते है कि शादी एक ऐसा रिश्ता है, जिसमे पति और पत्नी दोनों बराबर के पार्टनर होते है. जी हां इस रिश्ते में न कोई बड़ा होता है और न ही कोई छोटा होता है. वास्तव में जब पति पत्नी मिल कर इस रिश्ते को मुकम्मल बनाते है, तभी ये रिश्ता एक पवित्र रिश्ता बन पाता है. हालांकि कई बार आपने देखा होगा कि शादी के बाद बहुत से पति ऐसे होते है, जो अपनी पत्नी की गुलामी करने लगते है. अब इनमे से कुछ पति तो ऐसे होते है, जो केवल अपनी पत्नी को खुश करने के लिए उनकी जी हजूरी करते है, लेकिन कई पति ऐसे भी होते है, जो वास्तव में अपनी पत्नी के पूरी तरह से गुलाम बन जाते है.

यहाँ तक कि उन्हें अपनी पत्नी की गुलामी करने के इलावा दूसरा कोई काम ही नजर नहीं आता. अब इसमें तो कोई शक नहीं कि शादी के बाद हर व्यक्ति के जीवन में काफी बदलाव आते है. जी हां शादी के बाद व्यक्ति ज्यादा जिम्मेदार हो जाता है. इसके इलावा शादी के बाद कई पति ज्यादा रौब दिखाने लगते है, तो कई व्यक्ति शादी के बाद इतना ज्यादा बदल जाते है, कि कोई सोच भी नहीं सकता. बरहलाल आज हम आपको ऐसे ही चार नाम वाले लड़को के बारे में बताएंगे, जो शादी के बाद अपनी पत्नी के गुलाम बन जाते है.

१. P नाम वाले लड़के.. गौरतलब है कि जिन लड़को का नाम इस अक्षर से शुरू होता है, वो शादी के बाद यक़ीनन अपनी पत्नी के गुलाम बन जाते है. जी हां ये लोग अपनी पत्नी से इतना प्यार करते है कि उनकी गुलामी करने से भी नहीं कतराते. बरहलाल इनसे तो हम यही कहेगे कि अपनी पत्नी से प्यार करना गलत नहीं है, लेकिन उनकी जरूरत से ज्यादा गुलामी करना भी सही नहीं है.

२. K नाम वाले लड़के.. बता दे कि जिनका नाम इस अक्षर से शुरू होता है, वो भी अपनी पत्नी की जी हजूरी करने से पीछे नहीं हटते. जी हां शादी से पहले तो ये लड़के काफी ताव में रहते है, लेकिन शादी के बाद ये अपनी पत्नी के सामने काफी फीके पड़ जाते है और उनके गुलाम बन जाते है.

३. D नाम वाले लड़के.. बता दे कि जिनका नाम इस अक्षर शुरू होता है, वो शादी के बाद काफी भावनात्मक हो जाते है और अपनी पत्नी को हर तरह से खुश रखने की कोशिश करते है. यहाँ तक कि इसके लिए ये पूरी तरह से अपनी पत्नी के गुलाम भी बन जाते है. इसलिए अगर आपके जीवन में भी इस नाम का लड़का मौजूद है, तो उसके प्यार की कदर कीजिये.

४. J नाम वाला लड़का.. जिनका नाम इस अक्षर शुरू होता है, वो अपनी पत्नी की गुलामी तो करते है, लेकिन साथ ही दूसरो के सामने अपना सम्मान भी बनाएं रखते है. जी हां यानि दूसरो के सामने ये एक रौबदार पति की तरह ही व्यव्हार करते है. बरहलाल अपनी पत्नी की गुलामी करने के कोई बुराई नहीं है, लेकिन इसका मतलब ये बिलकुल नहीं है कि आप हद से ज्यादा उनके गुलाम बन जाए, क्यूकि इससे आपकी पत्नी के दिल में आपके प्रति प्यार कम हो सकता है और वो आपको नकारा समझ सकती है.

इसलिए अगर हो सके तो एक दूसरे का दोस्त बनने की ही कोशिश कीजिये, तभी आपका रिश्ता बेहतर से बेहतरीन हो पायेगा.

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker