वेस्टर्न सहाराः जहां अभी भी जिंदा है बारूदी सुरंगी की कहानी- डॉ राहुल चतुर्वेदी

रेतीले व बेहदकम आबादी वाले सहारा वेस्टर्न में अभी भी बारूदी सुरंग कीकहानी जिंदा है। पिछले 70 साल से यहां पर संघर्ष चल रहा है। अफ्रीका केउत्तर पश्चिम तट पर स्थित वेस्र्टन सहारा एक जमाने में स्पेन की एककालोनी हुआ करता था। जिसे 1975 में मोरक्को ने छीन लिया था। 1991 मेंयूनाईटेड नेशनन के मुखियता मे हुए फैसले से मोरक्को और पोलिसोरिया फ्रंटके बीच चल रही लड़ाई थम गई थी। पश्चिमी अफ्रीका के संघर्ष को भुलाया जाचुका था लेकिन 2020 की दो घटनाओं ने उस कहानी को दोहरा दिया है।

मोरक्कोने सीमा पर स्थित एक असैन्य पोस्ट की तरफ कदम बढ़ाए जिससे युद्व जैसेहालात बन गए और निवर्तमान अमेरिकी राष्ट्रपति ने वैस्टर्न सहारा परमोरक्को के नियोग को पहचान दे दी। इस इलाके के उत्तर दिशा में मोरक्को हैतो दक्षिण पूर्व में अल्जीरिया और दक्षिण पूर्व में मोरिटानिया है।पश्चिमी छोर पर सहारा रेगिस्तान और अटलांटिक महासागर के तट पर एक हजारकिलो मीटर फैला हुआ यह इलाका है। दस लाख की आबादी वाले इस इलाके मेंफास्फेट का बहुत बड़ा खजाना है। असल दस्तावेज से बेर्बेर जनजाति समुदाय काइलाका पश्चिमी सहारा पर 1884 में स्पेन का नियंत्रण हुआ था। 70 साल 1934में इसे एक प्रांत का  दर्जा  मिला और तब से ये स्पेनिश सहारा के नाम सेजाना जाने लगा। 1965 में यूएन के स्पेन से यहां अपनी कालोनी समाप्त करनेकी गुजारिश की थी। मोरक्को की मोनारकी ने 1959 में स्वतंत्रता हासिल करली थी तब सहारा पर उसका दावा मजबूत हो रहा था। मोरक्को और मोरटानियासदियो से वेस्टर्न सहारा पर अपना दावा करता रहता था। य़द्यपि उसी दौरानवेस्टर्न सहारा में स्वतंत्रता का आंदोलन भी शुरू हो चुका था। 1973 ेंपोलिसारियो फं्रट का गठनबंध्ंान हुआ था

1974 में स्पने ने सहारा के लोगोंको अधिक स्वतंत्रता और आजादी को लेकर जनमत संग्रह कराने का एलान कियाथा। यद्यपि 1975 में स्पेन बिना जनमत संग्रह कराए इस इलाके को छोड़कर चलेजाने पर मोरक्को ने इस पर कब्जा कर लिया और अपने साढे तीन लाख लोग यहांलाकर बसा दिए। तभी से पोलिसोरियो ने मोरक्को के खिलाफ गुरिल्ला युद्व छेड़दिया जो अगले 16 साल तक चला। उसी वक्त फ्रंट ने अल्जीरिया की मदद सेसहरावी अरब डेमोक्रेटिक रिपब्लिक घोषित कर दिया। बाद में 1979 मेंमोरिटानिया ने वेस्र्टन सहारा पर अपना दावा छोड़ दिया। 1980 में मोरक्कोने अपनी इलाके में रेत व पत्थरों की दीवारे खड़ी कर दी ताकि गुरिल्लालड़ाकुओं को दर रखा जा सके।

27 किमी लंबी इस दीवार के दायरे में वेस्टर्नसहारा का 80 फीसद इलाका आता है जो अब मोरक्को के अंतर्गत आता है। इस परकटीली तारे और बारूदी सुरंगे बिछी हुई हैं। यह बारूदी सुरंगों का सबसेबड़ा इलाका है। 1991 में समझौता होने तक लड़ाई चली लेकिन समझौता हो न सका।बीते साल मोरक्को सेना एक चैकी पार गई और युद्व जैसे हालात बन गए।यनाइटेड नेशन को जनमत संग्रह कराना कि वहां के लोग मोरक्को के साथ रहेगाया अपना स्वतंत्र राष्ट्र बनाएंगे। 1991 के बाद यह विवाद वही पर है जहांसे शुरू हुआ था। कई नाकाम वार्ताए भी हो चुकी है। पिछले कुछ दिनों से तोतनाव बढ़ा है उसे देखकर लगता है कि हालात और खराब हो सकते हैं।
लेखकःदैनिक भास्कर के संपादकीय सलाहकार हैं

Back to top button
E-Paper