अमेरिकी राष्ट्रपति की लोकप्रियता घटी, कोरोना और अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर लोगों ने बाइडेन के कामकाज पर जताई नाराजगी

वॉशिंगटन (ईएमएस)। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन की लोकप्रियता में हाल के दिनों में बड़ी दर्ज की गई। एक पोल के अनुसार, अमेरिकी नागरिकों का मानना है कि अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर राष्ट्रपति बाइडेन का काम संतोषजनक नहीं रहा। जो बाइडेन ने इसी साल जनवरी में अमेरिकी राष्ट्रपति के तौर पर कामकाज संभाला है। तभी से यूएस कोरोनावायरस की रोकथाम को लेकर संघर्ष कर रहा है। कोरोना महामारी की वजह से अमेरिका की अर्थव्यवस्था भी बुरी तरह प्रभावित हुई है। हालांकि इकॉनोमी में सुधार के लिए प्रेसिडेंट बाइडेन ने इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए 1.2 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर का पैकेज घोषित किया। इसके बाद भी उनकी रेटिंग में कोई सुधार देखने को नहीं मिला है।

अमेरिका में किए गए एक टेलिफोनिक पोल के अनुसार, 53 फीसदी लोगों का कहना है कि राष्ट्रपति के तौर पर जो बाइडेन के काम से उन्हें निराशा हुई है। जबकि ज्यादातर अमेरिकी नागरिकों ने केंद्रीय सरकार क्लाइमेट एक्शन पर 2 ट्रिलियन डॉलर खर्च करने और प्री स्कूल तैयार करने व उनका विस्तार करने, साथ ही हेल्थ व सोशल प्रोग्राम्स को लेकर उठाए गए कदमों का समर्थन किया है। 55 फीसदी लोगों ने कहा बाइडेन ने अर्थव्यवस्था को बेहतर तरीके से हैंडल नहीं किया। महामारी की रोकथाम को लेकर भी प्रेसिडेंट जो बाइडेन की अप्रूवल रेटिंग अच्छी नहीं रही है। इसे लेकर 49 फीसदी लोगों ने असहमति जताई है जबकि 47फीसदी लोगों ने कहा कि बाइडेन प्रशासन ने महामारी की रोकथाम को लेकर बेहतर काम किया।

अप्रवूल रेटिंग में गिरावट के बावजूद डेमोक्रेटिक सरकार ने रिपब्लिकन की तुलना में बेहतर काम किया। फिलहाल जो बाइडेन ने राष्ट्रपति के तौर पर 10 महीने पूरे किए हैं। इस अवधि में 63 फीसदी अमेरिकी नागरिकों का मानना है कि बाइडेन ने कुछ उपलब्धि हासिल नहीं की है। वहीं इस अवधि में 2017 में पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को लेकर भी 65 फीसदी नागरिकों ने यही राय दी थी। इस सर्वे में 70 फीसदी लोगों ने राय देते हुए कहा कि अमेरिका की अर्थव्यवस्था न तो बहुत अच्छी है और न ही खराब स्थिति में है। कुल मिलाकर सर्वे में प्रेसिडेंट जो बाइडेन के प्रदर्शन और अमेरिका की अर्थव्यवस्था को लेकर नागरिकों का काफी आलोचनात्मक नजरिया देखने को मिला है। यह सर्वे 2022 में होने वाले चुनाव को लेकर डेमोक्रेट के लिए बड़ी चेतावनी है।

Back to top button
E-Paper