आज के ही दिन 1971 में भारत और पाक के बीच संघर्ष विराम पर सहमति के बाद बांग्लादेश पाकिस्तान से पृथक् होकर स्वतंत्र राष्ट्र बना था


देश-दुनिया के इतिहास में 16 दिसंबर की तारीख तमाम अहम वजह से दर्ज है। यह तारीख भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश तीनों के लिए महत्वपूर्ण है। दरअसल, 16 दिसंबर 1971 को पूर्वी पाकिस्तान का हिस्सा रहे बांग्लादेश का स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में जन्म हुआ था। पाकिस्तान की सेना पर भारत की जीत और बांग्लादेश के गठन की वजह से हर साल 16 दिसंबर को भारत और बांग्लादेश में इस तारीख को विजय दिवस के रूप में मनाया जाता है।

बांग्लादेश के गठन में भारत की बेहद अहम भूमिका रही है। पाकिस्तान की सेना के बांग्लादेशी (उस समय पूर्वी पाकिस्तान) लोगों पर जुल्मो-सितम को लेकर भारत इस जंग में कूदने को मजबूर हुआ था। भारत के प्रतिरोध को लेकर पाकिस्तान और भारत के बीच तनाव बढ़ा और आखिर में भारतीय सेना की कार्रवाई के आगे पाकिस्तान के हौसले पस्त हुए और 16 दिसंबर 1971 को ही इतिहास के सबसे बड़े आत्मसमर्पण के रूप में पाकिस्तान के 93 हजार सैनिकों ने भारत के आगे घुटने टेके।

पाकिस्तान के सैनिक तानाशाह जनरल याहिया खान ने 25 मार्च 1971 को पूर्वी पाकिस्तान के लोगों के विरोध को सैन्य शक्ति से कुचलने का आदेश दे दिया। पूर्वी पाकिस्तान में बढ़ती इस हलचल के बाद भारत पर भी दबाव बढ़ा। नवंबर आते-आते बांग्लादेश को लेकर भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव चरम पर पहुंच गया। 3 दिसंबर 1971 को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी कलकत्ता (अब कोलकाता) में जनसभा कर रही थीं। तभी ठीक 5 बजकर 40 मिनट पर पाकिस्तान एयरफोर्स के सैबर जेट्स और लड़ाकू विमानों ने भारतीय वायु सीमा पारकर पठानकोट, श्रीनगर, अमृतसर, जोधपुर और आगरा के मिलिट्री बेस पर बम गिराने शुरू कर दिए। इसके बाद तुरंत बाद भारतीय सेना ने जवाबी हमला किया।

14 दिसंबर को भारतीय सेना को पता चलता है कि ढाका के गवर्नमेंट हाउस में दोपहर 11 बजे एक मीटिंग होने वाली है। भारतीय सेना ने तय किया कि मीटिंग के वक्त ही गवर्नमेंट हाउस पर बम बरसाए जाएंगे। इंडियन एयर फोर्स के मिग-21 विमानों ने बिल्डिंग की छत उड़ा दी। उस मीटिंग में तब के पूर्वी पाकिस्तान (अब बांग्लादेश) के सेना प्रमुख जनरल नियाजी भी मौजूद थे, जो उस हमले में बाल-बाल बच निकले। इंडियन एयर फोर्स के उस हमले के बाद पाकिस्तान की सेना पूरी तरह से घुटनों पर आ गई।

दो दिन बाद 16 दिसंबर 1971 को शाम करीब पांच बजे जनरल नियाजी ने अपने 93 हजार सैनिकों के साथ भारतीय सेना के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। उन्होंने अपने बिल्ले उतार दिए और रिवॉल्वर भी रख दी। उसी समय जनरल सैम मानेकशॉ ने इंदिरा गांधी को फोनकर बांग्लादेश पर जीत की खबर सुनाई। इसके बाद इंदिरा गांधी ने ऐलान किया- ढाका अब एक आजाद देश की आजाद राजधानी है।

महत्वपूर्ण घटनाचक्र

1631ः इटली के माउंट विसुवियस में ज्वालामुखी विस्फोट से छह गांव तबाह। चार हजार से अधिक लोगों की मौत।

1707ः जापान के माउंट फुजी पर्वत में अंतिम बार ज्वालामुखी विस्फोट।

1733: अमेरिका में ब्रिटिशर्स के विरुद्ध संग्राम शुरू। इसे बोस्टन टी-पार्टी कहा जाता है।

1824ः ग्रेट नॉर्थ हाॅलैंड नहर खोली गई।

1862ः नेपाल ने संविधान को अपनाया।

1889ः ब्रिटिश संसद की अधिकार घोषणा को राजा विलियम और रानी मेरी ने स्वीकार कर शासन में जनता के अधिकार को मान्यता दी

1927ः आस्ट्रेलिया के महान बल्लेबाज सर डान ब्रैडमैन ने न्यूसाउथ वेल्स और दक्षिण ऑस्ट्रेलिया के बीच मैच से अपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट की शुरुआत की।

1929ः कलकत्ता (अब कोलकाता) विद्युत आपूर्ति निगम ने हुगली नदी के भीतर नहर की खुदाई आरंभ की।

1945: दो बार जापान के प्रधानमंत्री रहे फूमिमारो कनोए ने युद्ध अपराधों का सामना करने के बजाए आत्महत्या की।

1951ः हैदराबाद में सालार जंग संग्रहालय की स्थापना की गई।

1958ः कोलंबिया की राजधानी बोगोटा में एक गोदाम में लगी भीषण आग में 82 लोगों की मौत।

1959ः पश्चिमी पाकिस्तान के लोवाराय दर्रे में भारी बर्फबारी से 48 लोगों की मौत।

1960: अमेरिका के न्यूयॉर्क में दो विमानों के टकराने से 136 लोगों की मौत।

1971ः भारत और पाकिस्तान के बीच संघर्ष विराम पर सहमति के बाद बांग्लादेश पाकिस्तान से पृथक् होकर स्वतंत्र राष्ट्र बना।

1985ः तमिलनाडु के कलपक्कम में पहले फास्ट ब्रीडर टेस्ट रिएक्टर (एफबीटीआर) की स्थापना।

1991ः कजाखिस्तान ने सोवियत संघ से स्वतंत्रता की घोषणा की।

1993 – नई दिल्ली में ‘सभी के लिए शिक्षा’ सम्मेलन प्रारम्भ।

1994ः पलाऊ संयुक्त राष्ट्र का 185वां सदस्य बना।

1999ः गोलन पहाड़ी के मुद्दे पर सीरिया-इजराइल वार्ता विफल।

2004ः दूरदर्शन की फ्री टु एयर डीटीएच सेवा डीडी डायरेक्ट का उद्घाटन।

2006ः नेपाल में राजा ज्ञानेन्द्र को देश के प्रमुख के पद से हटाया गया।

2007ः बांग्लादेश ने पाकिस्तान से मुक्ति दिवस का 36वां विजय दिवस मनाया।

2008ः केन्द्रीय विश्वविद्यालयों के शिक्षकों के वेतन पुनरीक्षण को गठित चड्ढा समिति की संस्तुतियों को केन्द्र सरकार ने मंजूर किया।

2009: फिल्म निर्माण को एक नए मुकाम पर ले जाते हुए जेम्स कैमरन ने विज्ञान पर आधारित फिल्म अवतार का निर्माण किया। दुनियाभर में इस फिल्म ने 2.7 अरब डॉलर की कमाई की।

2014ः पाकिस्तान में पेशावर के एक स्कूल में तहरीक-ए-तालिबान के हमले में 145 लोगों की मौत।

जन्म

1857ः रामकृष्ण मिशन के दूसरे संघाध्यक्ष स्वामी शिवानन्द।

1879ः भारत के प्रसिद्ध पुरातत्ववेत्ता दयाराम साहनी।

1901ः भारतीय राजनीतिज्ञ ज्ञान सिंह रानेवाला।

1937ः भारत के सर्वश्रेष्ठ मुक्केबाज हवा सिंह।

1959ः भारतीय राजनीतिज्ञ एचडी कुमारस्वामी।

निधन

1515ः पुर्तगाली गवर्नर अल्फांसो डे अल्बुकेरक।

1971ः परमवीर चक्र सम्मानित सेकेंड लेफ्टिनेंट अरुण खेत्रपाल।

1977ः भारत के प्रसिद्ध हॉकी खिलाड़ी रूप सिंह।

2002ः प्रसिद्ध भारतीय महिला कव्वाल शकीला बानो।

2022ः भारतीय बाल रोग विशेषज्ञ दिलीप महलानबीस।

दिवस

विजय दिवस

Back to top button