एक ऐसा झील जहां कड़कती रहस्यमय बिजलियाँ, अब तक वैज्ञानिक भी है हैरान

चंद दिनों में मोनसून शुरू होने को है ऐसे में वर्षा और आकाश में बजली चमकना ये तो आम-बात सी हो गई है. आपने वर्षा से पहले या वर्षा के दौरान आसमान में बिजली चमकती हुई तो अवश्य देखी ही होगी , अक्सर जब आकाश में बादल घिर जाते हैं तो तेज़ हवाओं से साथ बिजली भी चमकती है, लेकिन क्या आपने एक ही समय पर कई बिजलियों को एक साथ गिरते देखा है? यूँ तो आप कहेंगे कि यह संभव ही नहीं है की एक जगह पर इतनी सारी बिजलियाँ कैसे गिर सकती है? लेकिन आपको यह जानकर अचरज होगा की यह सारी बातें बिलकुल सच है, जिसपर से आज तक वैज्ञानिक भी पर्दा नहीं उठा पाए है. वैज्ञानिकों ने भले की आसमान की उचाईयों को छू लिया हो लेकिन धरती पर कई ऐसे रहस्य मौज़ूद है. जिनका रहस्य सुलझाने में वैज्ञानिक भी नाकाम रहे हैं. आइये इन्हीं रहस्यों में से एक रहस्य से आपको रूबरू करवाते है.

दक्षिण अमेरिकी देश वेनेजुएला भी कुछ इसी तरह की जगहों में से एक है, जहां एक झील के ऊपर हर समय बिजली कड़कती रहती है. लेकिन इसके पीछे की वजह के बारे में आजतक नहीं पता चल पाया है. वैसे आसमान में एक ही जगह पर कभी दो बार बिजली नहीं चमकती है, लेकिन आपको ये जानकर हैरानी होगी कि इस अनोखे झील के ऊपर हजारों बार बिजली चमकती है. दुनिया को हैरान कर देने वाले इस रहस्य को ‘बीकन ऑफ मैराकाइबो’ कहा जाता है. इसके और भी कई नाम हैं, जैसे कि कैटाटुम्बो लाइटनिंग, एवरलास्टिंग स्टॉर्म, ड्रैमेटिक रोल ऑफ थंडर. इस जगह को दुनिया का कुदरती बिजली घर भी कहते हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक, वेनेजुएला में कैटाटुम्बो नदी जिस जगह पर मैराकाइबो झील में मिलती है, वहां साल में 260 दिन तूफानी होते हैं. इन 260 दिनों की तूफानी रातों में यहां रात भर बिजली चमकती रहती है.

मैराकाइबो झील का नाम सबसे ज्यादा बिजली चमकने वाले स्थान के तौर पर गिनीज बुक में दर्ज है. सर्दियों के मौसम में तो कम, लेकिन बरसात के मौसम में यहां खूब बिजली चमकती है. एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस मौसम में यहां हर मिनट 28 बार बिजली चमकती है. आपको जानकर हैरानी होगी कि इस आसमानी बिजली की चमक इतनी ज्यादा होती है कि यह 400 किलोमीटर की दूरी से भी दिखाई देती है। लोगों का कहना है कि यह देखने में ऐसा लगता है कि जैसे आसमान बहुरंगी रोशनी में नहाया हुआ हो.

दरअसल, इस इलाके में इतनी बिजली क्यों चमकती है, इसके बारे में जानने के लिए विशेषज्ञ सालों से लगे हुए हैं. 1960 के दशक में ऐसा माना गया था कि इस इलाके में यूरेनियम की मात्रा ज्यादा होती है इसलिए यहां आकाश में बिजली ज्यादा चमकती है. वैज्ञानिकों के द्वारा किए गए एक शोध में पाया गया कि झील के पास के तेल क्षेत्रों में मीथेन की प्रचुर मात्रा होने के चलते आकाश में बिजली ज्यादा चमकती है. हालांकि, यूरेनियम और मीथेन वाला सिद्धांत प्रामाणिक तौर पर साबित नहीं हो सका है. इसलिए यह जगह अभी भी रहस्यमय बनी हुई है

Back to top button
E-Paper