कानपुर में धर्म परिवर्तन : MBA पास ऋचा ने धर्म बदलकर नाम माहीन रखा, परिवार से भी तोड़ा नाता

यूपी में धर्मांतरण मामले में जांच एजेंसियों के जरिए मीडिया  के हाथ 2018 में मुस्लिम धर्म अपनाने वाली 33 महिलाओं की लिस्ट हाथ लगी है। यह सभी महिलाएं हाई क्वालीफाइड हैं। इसके चलते धर्मांतरण के सरगना उमर ने इन महिलाओं को साइनिंग स्टार्स नाम दिया था। लिस्ट में शामिल कानपुर के घाटमपुर की युवती के घर जाकर भास्कर ने पड़ताल की तो चौंकाने वाले तथ्य सामने आए। घाटमपुर की होनहार छात्रा को इस तरह मोटिवेट कर दिया की परिवार छोड़कर नोएडा शिफ्ट हो गई है।

मेधावी छात्रा को बनाया शिकार, धर्मांतरण के बाद परिवार से तोड़ा नाता
घाटमपुर के बीहूपुर गांव की 26 वर्षीय ऋचा देवी एक प्रतिष्ठित कुर्मी परिवार से ताल्लुख रखती है। परिवार ने बड़ा अफसर बनाने की चाह में शहर के पीपीएन कॉलेज से स्नातक के बाद प्रयागराज के एक बड़े संस्थान से एमबीए की पढ़ाई कराई। फिर सिविल सर्विसेज की तैयारी कर रही थी।

परिजनों का आरोप है कि इस दौरान प्रयागराज के एक मुस्लिम प्रोफेसर के संपर्क में आई थी। उसने ऐसा ब्रेनवाश कर दिया की बेटी ऋचा धर्मांतरण करके ऋचा से माहीन अली बन गई है। अब वह नोएडा शिफ्ट हो गई है। एक बड़ी कंपनी में जॉब कर रही है। हर महीने मिलने वाली सैलरी भी मस्जिद में दान कर देती है। उसने परिवार से पूरी तरह से नाता तोड़ लिया जा। दो साल से वह घर नहीं आई है। परिजनों का कहना है कि अगर अब लौटकर आई भी तो स्वीकार नहीं करेंगे।

लिस्ट में ऋचा देवी का नाम माहीन अली लिखा है।

लिस्ट में ऋचा देवी का नाम माहीन अली लिखा है।

एटीएस समेत कई जांच एजेंसियां पूछताछ करने घर पहुंची
घाटमपुर की छात्रा के धर्मांतरण की बात सामने आने के बाद एटीएस, एलआईयू समेत कई जांच एजेंसियां छात्रा के घर जांच करने पहुंची। छात्रा के परिजनों ने बताया कि 2 साल से उनके संपर्क में नहीं है। छात्रा ने सभी के मोबाइल नंबरों को ब्लैक लिस्ट में डाल रखा है। सोशल मीडिया से परिवार और रिश्तेदारों को ब्लॉक कर दिया है। इसके चलते उसका हाल खबर भी परिजनों को नहीं मिल पाता है। उसका मोबाइल नंबर और नोएडा में कहां रहती है यह जानकारी परिजनों ने एटीएस से साझा की है।

धर्मांतरण करने वाली महिलाओं के नाम।

धर्मांतरण करने वाली महिलाओं के नाम।

माहीन अली बनी छात्रा अब करा रही है धर्मांतरण
ऋचा ने पहले मुस्लिम धर्म ग्रहण किया अब वह ट्रेनर बन गई है। खुद छात्राओं और महिलाओं को धर्मांतरण के लिए प्रेरित कर रही है। इस संबंध में भी जांच एजेंसियों को कई अहम साक्ष्य मिले हैं। पुलिस छात्रा ऋचा से माहीन अली बनी छात्रा का कच्चा चिट्ठा खंगालने में लगी है।

Back to top button
E-Paper