कूकर में फंस गई मासूम की खोपड़ी, हाथ खड़े कर दिए डॉक्टर, फिर ‘अद्भुत’ जगह से मिली मदद !

बचपन हर किसी का यादगार होता है वहीं बचपन में कई सारी घटनाएं भी ऐसी हो जाती है जो जीवन भर के लिए यादगार बन जाता है लेकिन वहीं कई बार आपके बचपन में जो आपकी चंचलता होती है वो आपके लिए घातक साबित हो जाती है। और इससे कई बार जान भी चली जाती है। वहीं जरूरी है कि मां बाप अपने बच्‍चों पर हमेशा ध्‍यान दें। आपके यहां भी बच्‍चे होंगे और कई बार वो खेल खेल में खुद को चोट पहुंचा लेते होंगे लेकिन आज जो मामला सामने आया है उसे सुनकर हर कोई कांप गया। जी हां ये मामला गुजरात के सूरत से है जो हर किसी को हैरान और परेशान करने वाली खबर सामने आई है। आपको इस बात का अंदाजा भी नहीं होगा कि कैसे थोड़ी सी लापरवाही आपको और बच्चे को परेशान कर सकती है।

हाल ही में एक ऐसी ही घटना सूरत के पांडेसरा में घटा जहां दो साल की परी का सिर कुकर में उस समय फंस गया था जब वह खेल रही थी। यह घटना तब घटी जब मुक्ति नगर में दो साल की बच्ची रसोई में बर्तनों के साथ खेल रही थी, अचानक उसका सिर कुकर में फंस गया। इस घटना के होने के बाद परिवार वालों की तो जैसे हालत ही खराब हो गई इसमें बच्‍ची के जान जाने का ठिकान लग गया था। तभी परिवार वालों कुकर में फंसे उसके सिर को निकालने की बहुत कोशिश की लेकिन वो सफल नहीं हुए तो सिविल अस्पताल ले गए।

वो लोग डॉक्टर के पास गए जहां उन्‍होंने भी करीब चार घंटे तक कुकर से बच्ची का सिर निकालने के लिए मशक्कत करते रहे, लेकिन उन्होंने भी हार मान ली। डॉक्टरों ने कहा कि वह कुकर से बच्ची का सिर नहीं निकाल सकते। अब कुकर को काटने का रास्ता ही बचा है। फिर उन्‍होंने कहा कि आप लोग इसे किसी लोहार के पास ले जाएं, जो कुकर को काट सके। आखिरकार थक हारकर परिजन बच्ची को लोहार के पास ले गए। लोहार ने कुकर को काटकर उसमें फंसा बच्ची का सिर निकाला।

इस मशक्‍कत में 12 घंटे तक बच्ची का सिर कुकर में फंसा रह गया लेकिन शुक्र है कि सकुशल कुकर से सिर निकल जाने के बाद परिजनों ने राहत की सांस ली।

ये हादसा किसी के भी साथ हो सकता है इसलिए ध्‍यान रहे की आप अपने बच्‍चों को लेकर सावधान रहें वरना कब क्‍या हो सकता है कुछ नहीं पता। इसमे बच्‍चे की जान भी जा सकती है।

Back to top button
E-Paper