क्‍यों नहीं सुलझ रही मुख्‍तार अंसारी की बाराबंकी की एंबुलेंस वाली गुत्थी?

मऊ से बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को पंजाब पुलिस ने बुधवार को मोहाली की कोर्ट में पेश किया। वह पंजाब की रोपड़ जेल में बंद है। सुप्रीम कोर्ट ने उसे उत्तर प्रदेश पुलिस को सौंपने का आदेश दिया था। लेकिन जिस निजी एंबुलेंस से मुख्तार कोर्ट तक पहुंचा, उस पर सवाल उठने लगे हैं। एंबुलेंस का रजिस्ट्रेशन बाराबंकी में श्याम सन अस्पताल के नाम से है। लेकिन इसका रजिस्ट्रेशन 5 साल पहले खत्म हो चुका है। न ही इस नाम से कोई अस्पताल है। परिवहन विभाग में एंबुलेंस मालिक का दिया गया नंबर भी गलत है। इस मामले में कृष्णानंद राय की पत्नी व भाजपा विधायक अलका राय ने सवाल उठाते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पर निशाना साधा है।

बाराबंकी ARTO विभाग के सूत्रों के अनुसार जिस एंबुलेंस (UP41 AT 7171) पर सवार होकर बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी मोहाली कोर्ट पहुंचा था उसके रजिस्ट्रे​​​​​​शन की मियाद 2015 में ही खत्म हो चुकी है। इसके साथ ही फिटनेस भी 2017 में एक्सपायर हो गई थी। बाराबंकी स्वास्थ्य विभाग के पास भी एंबुलेंस को लेकर कोई जानकारी नहीं है।

जिस एंबुलेंस से मुख्तारी अंसारी कोर्ट लाया गया, वह बाराबंकी जिले के नाम पर रजिस्टर्ड है।

विधायक ने राहुल-प्रियंका गांधी पर साधा निशाना

गाजीपुर की मुहम्मदाबाद विधानसभा से भाजपा विधायक अलका राय ने कहा कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा की सरकार के माफिया डॉन मुख्तार को बचाने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है। जिस तथाकथित एंबुलेंस में मुख्तार अंसारी को कोर्ट में पेश किया गया वह तथाकथित एंबुलेंस अंसारी को किसने मुहैया कराई? इसकी जांच होनी चाहिए। यह एंबुलेंस थी या माफ़िया डॉन की लग्जरी गाड़ी, जांच इसकी भी होनी चाहिए। UP के रजिस्ट्रेशन के नम्बर की यह गाड़ी किन हालातों में पंजाब पहुंची और माफिया डॉन कैसे इस गाड़ी पर घूम रहा है यह भी एक बड़ा सवाल है।

मुख्तार अंसारी को क्यों लाया गया था पंजाब?

दरअसल, 8 जनवरी 2019 को मोहाली के एक बड़े बिल्डर की शिकायत पर वहां की पुलिस ने अंसारी के खिलाफ 10 करोड़ की फिरौती मांगने का केस दर्ज किया था। 12 जनवरी को प्रोडक्शन वारंट हासिल करने के लिए पुलिस कोर्ट पहुंची। 21 जनवरी 2019 को मोहाली पुलिस मुख्तार अंसारी को प्रोडक्शन वारंट पर उत्तर प्रदेश से मोहाली ले आई। 22 जनवरी को कोर्ट ने उसे एक दिन की रिमांड पर भेज दिया। 24 जनवरी को उसे न्यायिक हिरासत में रोपड़ जेल भेज दिया गया।

Back to top button
E-Paper