गोरखपुर-बस्ती मंडल में संक्रमितों की संख्या 625 पहुंची

गोरखपुर । गोरखपुर-बस्‍ती मंडल में पिछले 30 घंटे में 26 नए मामले आने सभी जिलों में कोरोना संक्रमितों की संख्‍या 625 हो चुकी है। मरने वालों की तादाद 22 है और स्वस्थ होने वालों की संख्या 176 पहुंची है। रविवार देर रात आई रिपोर्ट में देवरिया में एक साथ 11, सिद्धार्थनगर में 07, बस्‍ती में 05 और संतकबीर नगर में 03 संक्रमितों के मिलने से आंकड़ों में यह उछाल आया है। इधर, बाबा राघवदास (बीआरडी) में रविवार को 45 वर्षीय एक संक्रमित की मौत हो गई है। वह बड़हलगंज के कोल्हुआ चैनपुर का रहने वाला था। उसका अंतिम संस्कार राजघाट पर पुलिस और परिजनों की देखरेख में किया गया है। अब तक जिले में छह मरीजों की मौत हो चुकी है। बीआरडी मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ गणेश कुमार ने बताया कि उसक लिवर खराब हो गया था। वह कोरोना संक्रमित भी था। इसकी वजह से उसकी मौत हुई है। परिजनों और पुलिस की देखरेख में कोविड-19 के नियमों के तहत उसका अंतिम संस्कार राजघाट में कराया गया है।

उधर, देवरिया में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 91 हो गई है। इनमें 23 लोग ठीक हुए हैं, जबकि एक की बीआरडी मेडिकल कॉलेज में मौत हो चुकी है। रामपुर कारखाना थाना क्षेत्र के पिपराइच के तीन युवक संक्रमित पाए गए हैं। 15 मई को हैदराबाद से ट्रक से एक मरीज अपने घर पहुंचा था। दूसरा युवक कर्नाटक से 11 मई को और तीसरा मुंबई से 13 मई को ट्रेन से देवरिया पहुंचे थे। देसही के अकटइयां का एक युवक भी पॉजिटिव पाया गया है। तरकुलवां के सोन्हुला रामनगर का भी युवक संक्रमित मिला है। भाटपार रानी के तिलौली गांव का एक व्यक्ति भी पॉजिटिव मिला है। वह हरियाणा से गाड़ी बुक करके बेटे के साथ घर आया था।

भलुअनी के जैतपुरा का एक व्यक्ति 23 मई को ट्रेन से घर पहुंचा था। उसके साथ गांव के कई अन्य लोग भी थे। उसकी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। बैतालपुर के परसा जंगल गांव का एक व्यक्ति 24 मई को घर पहुंचा था, जो अब पॉजिटिव मिला है। सदर कोतवाली के आहिल्यापुर का एक युवक गाड़ी बुक करके मुंबई से छह लोगों के साथ लौटा था। वह भी संक्रमित है। रुद्रपुर के रामचक गांव की रहने वाली एक महिला भी संक्रमित पाई गई है। कुछ दिन पूर्व मुंबई से लौटा उसके पति का भाई संक्रमित मिला था। इसके अलावा सलेमपुर कोतवाली के बहोरवा का एक व्यक्ति भी पॉजिटिव है। वह 25 मई को पुणे से ट्रेन से लौटा था।
सीएमओ डॉक्टर आलोक पाण्डेय ने बताया कि संक्रमित लोगों को क्वारेंटाइन सेंटर से सेंट्रल एकेडमी स्थित कोविड-19 अस्पताल में भर्ती किया जा रहा है। संबंधित गावों में सेनेटाइजेशन आदि शुरू कराया जा रहा है।

बस्ती में रविवार को आई जांच रिपोर्ट में पांच अन्य कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। पुरानी बस्ती थानांतर्गत एक मां और उसकी पांच वर्षीय बेटी भी शामिल है। महिला की एक नौ वर्षीय बेटी पहले से ही पॉजिटिव होने के चलते मेडिकल कॉलेज में एडमिट है। इन दोनों को भी वहीं शिफ्ट कर दिया गया। पति को क्वारेंटाइन कर दिया गया है। मुंबई से लौटे कप्तानगंज ब्लॉक के सेठा गांव निवासी 53 वर्षीय व्यक्ति की भी रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। इस समय यह पचवस में क्वारंटीन हैं। उसे मेडिकल कॉलेज बस्ती भेजा जाएगा।

दिल्ली से आया परशुरामपुर क्षेत्र का एक 21 वर्षीय युवक भी कोरोना पॉजिटिव मिला है। मौजूदा समय पचवस में क्वारेंटाइन युवक को एल-1 अस्पताल रुधौली भेजा जा रहा है। पैकोलिया थाना क्षेत्र के चेतरा गांव निवासी एक 30 वर्षीय युवक की भी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वह होम क्वारेंटाइन था। बस्ती में अब कुल पॉजिटिव मामले 169 हो गए है। 40 डिस्चार्ज हो चुके हैं और 05 की मौत हो चुकी है। संतकबीरनगर में रविवार को आई जांच रिपोर्ट में तीन कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए गए। इनमें 02 बखिरा और एक मेंहदावल क्षेत्र का निवासी है। कुल कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 84 हो गई। दो को एल-वन हास्पिटल खलीलाबाद और एक को ओपेक चिकित्सालय कैली में भर्ती कराया गया है।

एसीएमओ डॉ मोहन झा ने बताया कि बखिरा थाना क्षेत्र के तिघरा गांव का निवासी 60 वर्षीय एक व्यक्ति 12 मई को ट्रक से जिले में पहुचा था। इसके साथ चार लोग थे। इन लोगों ने बनकटिया में जांच कराई लेकिन पॉजिटिव व्यक्ति बिना जांच के ही सवारी से अपने घर पहुंचा था। जब उसकी तबियत खराब हुई 22 मई को ग्रामीणों ने प्रधान को सूचित किया। प्रधान घनश्याम तिवारी ने तत्काल जिला अस्पताल में भर्ती कराया। रविवार को इसकी जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद क्षेत्र में हड़कम्प मच गया है। दूसरा मामला बखिरा थाना क्षेत्र के तेनुआ गांव का है। यहां का निवासी पॉजिटिव 50 वर्षीय व्यक्ति 12 मई को अपने चार भतीजे के साथ ट्रक से मुम्बई से आया था। बनकटिया में थर्मल स्कैनिंग कराने के बाद घर पहुंच था। जब 23 मई को तबियत बिगड़ी तो ग्रामीणों ने इसकी सूचना ग्राम प्रधान को दिया। रिपोर्ट पॉजिटिव आने से क्षेत्र पूरे क्षेत्र में हड़कम्प मचा गया है। तीसरा केस परसा पाण्डेय का है।

यहां मुम्बई से 12 मई को आया था। व्यक्ति घर पर रहा था। 25 मई को तबियत खराब होने पर जिला अस्पताल भेजा गया। वहां से उसका नमूना जांच के लिए भेजा गया। रविवार को आई रिपोर्ट में पॉजिटिव पाया गया। तीन केस मिलने से इन गांवों में हड़कम्प मचा है। गांवों में स्वास्थ्य विभाग की टीम डोर टू डोर सर्वे कर रही है। तीनों मरीजों के परिवार के अन्य सदस्यों का भी नमूना जांच के लिए भेजा जाएगा।

Back to top button
E-Paper