जोक्स: तलाक मंजूर करते हुए अदालत ने बीवी को आधी सैलरी देने को बोला..

एक रिसर्च के अनुसार रोजाना दिन में कुछ जोक्स पढ़ने से इंसान का मन काम में कुछ अधिक लगता हैं, दरअसल जोक्स पढ़ने के पश्‍चात उसका माइंड बिलकुल रिलैक्स हो जाता हैं जिसके चलते वो अपने काम में और भी अधिक फोकस कर पाते हैं, शायद यही वजह हैं कि ये जोक्स दुनियां भर में काफी मशहूर होते हैं। इसीलिये आज हम कुछ नये प्रकार के जोक्‍स लेकर आये है जो कुछ इस प्रकार से है…..

पहला :

मास्टर- बेटा कोई प्यार वाली शायरी सुनाओ, छात्र – “मोटा मरता मोटी पे, भूखा मरता रोटी पे, मास्टरजी की है दो बेटी और मै मरता हूँ छोटी पे” मास्टर जी बेहोश।

दूसरा :

एक बार पप्पू ने घड़ी बनाने वाले से पूछा, “इस घड़ी को ठीक करने का क्या लोगे…?” घड़ीवाला, जितनी कीमत है, उसका आधा दे देना। अगले दिन जब घड़ीवाले ने पप्पू से जब अपना मेहनताना माँगा। तो पप्पू ने उसे दो थप्पड़ मार दिए…. घड़ीवाला: यह क्या किया तुमने….?? पप्पू, कुछ नहीं, जब मैंने घड़ी लेने की जिद की थी, तो मेरे पिताजी ने मुझे चार थप्पड़ मारे थे।

तीसरा :

इंटरव्यू लेने वाले ने पूछा, तुम्हारा नाम क्या है…? आवेदक, विजय दीनानाथ चौहान… इंटरव्यू लेने वाला, पर फॉर्म में तो तुमने अपना नाम वीरेन्द्र सिंह लिखा है? आवेदक, फिर क्यों स्वाद ले रहे हो…?

चौथा :

टी टी- ये विकलांग लोगों का डिब्बा है इसमें क्यों सफर कर रहे हो…? पप्पू- जी सर मेरे साथ ये है,  टी टी- ये तो आम है, पप्पू, हाँ पर ये लँगड़ा आम है।

पांचवा :

लड़का- चलो अब फोन रखता हूँ, ड्राइव कर रहा हूँ,

लड़की- क्यों ड्राइव करते बात नहीं कर सकते क्या?

लड़का- अरे पागल एक हाथ से रिक्शा घुमती है क्या?

Back to top button
E-Paper