टिकटॉक गर्ल पूजा चव्हाण सुसाइड मामले में ठाकरे सरकार के मंत्री संजय राठौड़ की बढ़ी मुश्किलें

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी के नेता देवेंद्र फडणवीस ने टिकटॉक स्टार पूजा चव्हाण आत्महत्या मामले में महाराष्ट्र सरकार के मंत्री और शिवसेना के नेता संजय राठौड़ के खिलाफ मामला दर्ज करने और गिरफ्तार करने की माँग की है।

उनका कहना है कि संजय ने पूजा को आत्महत्या के लिए उकसाया है और इस बात की जाँच की जानी चाहिए। देवेंद्र फडणवीस के अनुसार अगर पूजा के परिजन इस मामले में शिकायत नहीं कर रहे हैं तो पुलिस को स्वत: संज्ञान लेते हुए खुद मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने पुलिस के ऊपर सरकार की तरफ से किसी तरह के दबाव होने की भी आशंका जताई।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पूजा चव्हाण मामले की जाँच का आदेश दिया है। उन्होंने साफ शब्दों में कहा है कि जाँच में जो भी दोषी पाया जाएगा, उसे किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। साथ ही, यह भी कहा कि जाँच पूरी होने तक किसी निर्दोष को बदनाम नहीं किया जाना चाहिए।

गौरतलब है कि पुणे शहर में 8 फरवरी की रात टिकटॉक स्टार पूजा चव्हाण ने इमारत की तीसरी मंजिल से कूद कर कथित तौर पर आत्महत्या कर ली थी। हालाँकि पुलिस को पूजा चव्हाण के पास से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ था। पूजा अपने भाई के साथ पुणे में रह कर स्पोकन इंग्लिश की पढ़ाई कर रही थी।

पूजा की आत्महत्या के साथ विदर्भ के मंत्री संजय राठौड़ का नाम जोड़ा जा रहा है। सोशल मीडिया पर चर्चा है कि पूजा के संजय राठौड़ के साथ प्रेम संबंध थे। इस संबंध को आत्महत्या की वजह माना जा रहा है। अब इस मामले की जाँच के लिए बीजेपी ने आक्रमक रवैया अख्तियार कर लिया है।

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने पूजा चौहान आत्महत्या मामले में राज्य के डीजीपी हेमंत नागराले को पत्र लिख कर इस पूरे मामले की गहन जाँच करने की माँग की। पत्र के साथ उन्होंने 14 ऑडियो क्लिप्स भी भेजे। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा है कि पुलिस को इस मामले की जाँच गंभीरता से करनी चाहिए।

देवेंद्र फडणवीस ने यह भी माँग की है कि वायरल हो रहे ऑडियो क्लिप में आवाज किसकी है? और किस संदर्भ में बात की जा रही है? इन तमाम बातों से पर्दा उठना बहुत जरूरी है। इसके अलावा यह भी जाँच होनी चाहिए कि पूजा ने कहीं उकसावे की वजह से तो आत्महत्या नहीं की है?

भाजपा विधायक अतुल भातखलकर ने भी इस संबंध में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को एक पत्र भेजा था। मामले में आवाज उठाने के बाद भातखलकर ने ठाकरे सरकार पर गंभीर आरोप लगाया है। भातखलकर ने ट्वीट किया, “पूजा चव्हाण की संदिग्ध आत्महत्या मामले में अपनी आवाज उठाने के बाद मुझे कल से धमकी भरे फोन आ रहे हैं। ठाकरे सरकार के सत्ता में आने के बाद से यह मॉब रूल तेज हो गई है। सरकार द्वारा प्रायोजित गुंडों को यह पता होना चाहिए कि मुझे धमकी देकर डराया नहीं जा सकता।”

बीड में रहती थी पूजा चव्हाण

मूलतः बीड जिले के परली में रहने वाली 22 साल की पूजा पुणे में पढ़ाई करने के लिए आई थी। अपने भाई के साथ वह पुणे के हडपसर इलाके में रहती थी। 8 फरवरी को पूजा ने सोसायटी के तीसरे फ्लोर से कूद कर अपनी जान दे दी थी। पूजा की अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई थी। वो महमंद इलाके के हैवेन पार्क नाम की सोसाइटी में रहती थी।

Back to top button
E-Paper