तुलसी के गमले पर बनाएं ये खास निशान, 24 घंटे घर रहेगी मां लक्ष्मी, एक झटके में पलटेगा भाग्य

हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे को काफी पवित्र माना जाता है। इसकी रोज पूजा की जाती है। इसे घर रखने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती है। घर की बरकत कभी नहीं जाती है। वास्तु शास्त्र में भी तुलसी को लेकर कई टिप्स दी जाती है। इसके मुताबिक यदि आप तुलसी के गमले पर कुछ खास चिन्ह बना दें तो आपको सबसे अधिक लाभ मिलता है। ये आपके भाग्य की रेखा बदल देता है।

स्वस्तिक

हमारे सनातन धर्म में स्वस्तिक को काफी शुभ माना जाता है। इसे यदि आप तुलसी के गमले पर बनाते हैं तो मां लक्ष्मी और विष्णु भगवान प्रसन्न होते हैं। आपको इन दोनों का आशीर्वाद मिलता है। इससे घर में खुशियां बरकरार रहती है। दुख दूर रहते हैं। सभी समस्याएं हल हो जाती है।

चक्र

चक्र भी कई देवी देवताओं के हाथों में देखा जा सकता है। इसे तुलसी पर बनाना शुभ होता है। विष्णु भगवान से लेकर कृष्ण भगवान तक, कई देवता इसे धारण करते हैं। इसलिए इसे तुलसी पर बनाने से विष्णुजी प्रसन्न होते हैं। इससे आपके सभी प्रकार के कष्ट दूर होते हैं। शत्रु की चाल बर्बाद हो जाती है।

शंख

शंख भी हिंदू धर्म में काफी अहमियत रखता है। इसे सभी मंदिर व पूजा स्थलों में रखा जाता है। इसकी ध्वनि सकारात्मकता फैलाती है। इसलिए इसे तुलसी के गमले पर बनाना शुभ होता है। यह विष्णु भगवान का भी प्रिय होता है। इसे बनाने से घर में मौजूद सारी नेगेटिव एनर्जी खत्म हो जाती है।

ओम

ओम हमारे हिंदू धर्म में कितना महत्वपूर्ण है ये आप सभी अच्छे से जानते हैं। इसका साउन्ड हमारे मन को शांति देता है। इसे भी आप तुलसी के गमले पर लगा सकते हैं। ऐसा करने से लक्ष्मीजी प्रसन्न होती है। इसके अलावा हमे विष्णुजी भी आशीर्वाद देते हैं। गमले पर बना यह ओम घर में सुख-शांति लाता है।

रोली और चंदन का टीका

तुलसी के गमले पर रोली और चंदन का टीका भी बनाया जा सकता है। यह दोनों चीजें शुभ मानी जाती है। इसे देखने और लगाने से मन को शांति मिलती है। इससे आपकी विचारधारा पॉजिटिव बनती है। आप खुद भी चंदन का टीका लगाकर तुलसी की पूजा कर सकते हैं। इससे आपका विकास होगा।

चुनरी ओढ़ाना

इन चिन्हों के अलावा आप तुलसी माता को चुनरी भी ओढा सकते हैं। यह भी शुभ होता है। खासकर कुंवारी महिलाएं ऐसा करें तो उन्हें मन चाहा वर मिलता है। वहीं शादीशुदा महिला यह उपाय करें तो उनका सुहाग हमेशा सलामत रहता है। आप लाल, पीली, नारंगी या हरी चुनरी ओढ़ा सकते हैं।

Back to top button