दो लड़कियां एक दूसरे के प्यार में हो गयीं पागल, घर से भागीं, जान देने की भी कोशिश, लेकिन हुआ ये…

मुजफ्फरपुर। दो लड़कियां… दोनों जिगरी दोस्त और कच्ची उमर में इन्हें एक दूसरे से ही प्यार हो गया है। मुजफ्फरपुर में लोगों की जुबान पर इसी बात के चर्चे हैं। कोई इसे नादानी बता रहा है तो कोई इसे अपराध का दर्जा तक दे रहा है।

‘पिंकी और चिंकी का प्यार’
सोमवार को मुजफ्फपुर एसएसपी दफ्तर में दूल्हा-दुल्हन के लिबास में एक जोड़ा पहुंचा। देखने में एक लड़का लग रहा था क्योंकि हाव-भाव और वेशभूषा दोनों वैसे ही थे। लेकिन जब दोनों ने अपना मुंह खोला तो लोग हैरान रह गए। ये दोनों ही लड़कियां थीं… एक चिंकी (बदला हुआ नाम) थी तो एक पिंकी (बदला हुआ नाम)। दोनों लड़कियों को एक दूसरे से प्यार हो गया था। चौंक गए आप… हैरान मत होइए… यही हाल तो SSP दफ्तर में मौजूद लोगों का भी हो गया था। लेकिन जो सच है वो सच है।

कुढ़नी इलाके की रहनेवाली पिंकी और चिंकी दावा कर रही हैं कि वो एक दूजे के बिना रह ही नहीं सकतीं। घरवालों का हाल तो बेचारे वही लोग जाने। दोनों काफी समय से एक दूसरे को जानती हैं। चिंकी और पिंकी की प्रेम कहानी को साल भर से ऊपर हो चुका है।

घर से भागीं, जान देने की भी कोशिश की
बस यही अपराध ये हर बार करती हैं, लड़की हैं और लड़की से प्यार करती हैं…..

साल भर पहले पिंकी ने तो चिंकी के लिए जहर खाकर जान देने की भी कोशिश की थी। उस वक्त भी उसे बचा लिया गया था। इसके बाद भी जब घरवाले नहीं नहीं माने तो एक महीने पहले दोनों ही गांव से फरार हो गईं। किसी तरह से घरवालों ने इन्हें शादी के नाम पर बहला-फुसला कर वापस बुलाया।

जब मामला कुढ़नी थाने पहुंचा तो वहां की पुलिस भी चक्कर खा गई। लड़का-लड़की होते तो थाने में भी शादी करा दी जाती। एक तो दोनों लड़कियां और उसमें से एक नाबालिग। शादी का तो सवाल ही पैदा नहीं हो रहा था। अजब प्रेम की गजब कहानी जब स्थानीय थाने से नहीं संभली तो मामला ऊपर यानि SSP के पास भेजा गया। लेकिन SSP दफ्तर में भी चिंकी और पिंकी शादी के लिए अड़ी रहीं।

क्या कहना है पुलिस का
अब पुलिस इस मामले में कानून के हिसाब से चलने की बात कह रही है। चिंकी और पिंकी दोनों को ही महिला पुलिस की देख-रेख में रखा गया है। मुजफ्फरपुर के डीएसपी पश्चिमी कृष्ण मुरारी के मुताबिक उम्र के सत्यापन के दौरान एक लड़की नाबालिग दिख रही है। पुलिस का कहना है कि जो भी फैसला लिया जाएगा वो सामाजिक माहौल को देख कर ही लिया जाएगा।

Back to top button
E-Paper