धर्मेंद्र के डूबते करियर को बचाई थी ये एक्ट्रेस, बनते-बनते रह गई सनी-बॉबी की तीसरी मम्मी

90 के दशक में धर्मेंद्र का करियर ढलान पर आने लगा. हालांकि पिछले ट्रैक रिकॉर्ड्स के कारण उन्हें फ़िल्में मिल तो रही थी, लेकिन सारी फ़िल्में फ्लॉप साबित हो रही थी. ऐसे में निर्माता राज कुमार कोहली ने धर्मेंद्र को अपनी फिल्म ‘नौकर बीबी का’ में कास्ट किया. इस फिल्म की कामयाबी ने उनके करियर को नया जीवनदान दे दिया. इस फिल्म में अनीता राज उनकी हीरोइन थी जो अपनी ख़ूबसूरती और बोल्ड अंदाज़ के कारण सुर्ख़ियों में थी. फिल्म चल गयी और इस जोड़ी की डिमांड में उफान आ गया.

इस जोड़ी ने ‘गुलामी’, ‘करिश्मा कुदरत का’, ‘इंसानियत के दुश्मन’ और ‘जलजला’ जैसी सफल फिल्मों की झड़ी लगा दी. साथ-साथ काम करते-करते धर्मेंद्र के रोमांटिक दिल में अनीता राज के लिए इश्क़ की चिंगारी उठी और पूरी इंडस्ट्री में आग की तरह फ़ैल गयी.

धर्मेंद्र और अनीता राज का ये प्यार सुर्खियां बटोरने लगा. इससे पहले कि पाजी का रोमांटिक दिल डेंजर एक्शन शुरू करे पारिवारिक दबाव ने इस आग पर पानी डाल दिया और इंडस्ट्री में धर्मेंद्र तीन तीन बीवियों के अकेले पति के टैग से बाल-बाल बच गए.

कहा जाता है देओल परिवार ने अनीता राज के पिता जगदीश राज को धमकाते हुए अपनी बेटी को धर्मेंद्र से दूर रखने की हिमायत दी थी. देओल परिवार ने धर्मेंद्र को अनीता राज के साथ काम करने पर पूरी तरह पाबंदी लगा दी. भले ही ये अफ़साना अंजाम तक नहीं पहुंचा लेकिन इस रोमांस ने धर्मेंद्र के करियर की मियाद 10 साल और बढ़ा ही दी.

हर कामयाब इंसान के पीछे एक औरत का हाथ होता है लेकिन धर्मेंद्र की कामयाबी के पीछे तीन-तीन औरतों का हाथ है और यही स्टेमिना उन्हें बॉलीवुड का असली हीमैन साबित करता है

Back to top button
E-Paper