पूजा के समय महिलाओं को बिंदी लगाना सख्त मना, इसके पीछे है ये बड़ी वजह

हिन्दू धर्म में ज्यादातर हर महिला अपने माथे पर बिंदी लगाती है. माना जाता है कि बिंदी को माथे पर सजाने से हर एक महिला की सुंदरता कई गुना बढ़ जाती है और चेहरे पर चार चांद लग जाते हैं. कई ऐसी महिलाएं और लड़किया देखने को मिलती हैं जो घर से बाहर जब भी पूजा करने के लिए जाती हैं, तो वो अपने माथे पर बिंदी लगाकर ही जाती हैं, लेकिन क्या आपको इस बात का थोड़ा भी अंदाजा है कि ऐसा करने से आपके जीवन में कितना बुरा असर पड़ता है.

आपको बता दें कि हिन्दू धर्म में माथे पर बिंदी लगाकर पूजा करना अच्छा नहीं माना जाता है, क्योंकि इसके पीछे एक बहुत बड़ा कारण भी है. माना जाता है कि पूजा करते समय माथे पर बिंदी होने से पूरा ध्यान पूजा की तरफ नहीं रहता है. तो आइए जानते हैं कि माथे पर बिंदी लगाकर पूजा क्यों नहीं करनी चाहिए.

योग शास्त्र के अनुसार पूजा के दौरान बिंदी लगाना अच्छा नहीं माना जाता है. ज्यादातर महिलाएं माथे पर दोनों भौ के बीचो बीच बिंदी लगाती है, वहीं इस जगह को योग शास्त्र में आज्ञा चक्र के नाम से कहा जाना जाता है. जिसके अनुसार इस जगह पर बिंदी लगाने ले किसी भी प्रकार की रुकावट या दबाव पढ़ता है. जिस के चलते व्यक्ति का दिमाग सहीं नहीं रहता है और वो किसी भी चीज़ में पूरा ध्यान नहीं लगा पाता है.

इसी वजह से पूजा के समय बिंदी नहीं लगानी चाहिए, क्योंकि पूजा में पूरी तरह से ध्यान लगाना बेहद जरूरी होता है.

वैसे माथे पर बिंदी लगाने से और कोई बुरा प्रभाव नहीं होता है, केवल जब भी आप पूजा में हो तो बिंदी को अपने माथे से निकाल दें, जिससे आपका ध्यान पूरा ध्यान पूजा में लग सके और आप पर भगवान की कृपा बनी रहे.

Back to top button
E-Paper