पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत बोले-कोरोना भी एक प्राणी है, उसे भी जीने का हक, मचा बवाल

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कोरोना को लेकर चौंकाने वाला बयान दिया है। 13 मई के एक वायरल वीडियो में रावत कह रहे हैं कि कोरोना वायरस भी एक प्राणी है और उसे भी जीने का अधिकार है। अपने इस बयान को लेकर रावत सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रहे हैं। इंडियन यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने तंज कसा है कि कोरोना एक प्राणी है तो इसका आधार कार्ड-राशन कार्ड भी होगा?

रावत ने क्या कहा हूबहू पढ़िए…
‘वो वायरस भी एक प्राणी है। हम भी एक प्राणी हैं। हम अपने आप को ज्यादा बुद्धिमान समझते हैं। हम समझते हैं कि हम ही सबसे ज्यादा बुद्धिमान हैं। लेकिन वो प्राणी भी जीना चाहता है और उसे भी जीने का अधिकार है। हम उसके पीछे लगे हुए हैं। वो अपने बचने के लिए अपना रूप बदल रहा है। वो बहुरुपिया हो गया है।’रावत का यह बयान ऐसे समय आया है जब देश कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहा है। देश के 18 राज्यों में कोरोना के चलते टोटल लॉकडाउन जैसी पाबंदियां लागू हैं। वहीं 14 राज्यों या केंद्र शासित प्रदेशों में आंशिक लॉकडाउन लगा हुआ है। ऐसे में रावत के बयान को लेकर लोग सोशल मीडिया पर सवाल उठा रहे हैं। एक यूजर ने तंज कसा है कि इस वायरस प्राणी को सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट में शरण दे दी जानी चाहिए।

Back to top button
E-Paper