प्रयागराज : चलती ट्रेन में चढ़ते समय ट्रैक के नीचे आई महिला, ऐसे बची जान-देखे VIDEO

प्रयागराज।  संगम नगरी के रामबाग रेलवे स्टेशन पर मौत ने एक महिला पर छपट्‌टा मारा, लेकिन आरपीएफ-जीआरपी जवानों की मुस्तैदी से उसकी जान बच गई। रेंगती ट्रेन पर वह चढ़ने का प्रयास कर रही थी तभी वह ट्रैक के नीचे आ गई। जवानों ने तत्काल ट्रेन रुकवाई और उसे बाहर निकाला गया। गनीमत रही उसे ज्यादा चोट नहीं आई। फिलहाल यह घटना सीसीटीवी फुटेज में कैद हो गई है। तेजी से वायरल हो रही इस फुटेज को जो भी देख रहा बस यही कह रहा कि सिपाहयों ने साक्षात् भगवान के रूप में महिला को आकर बचा लिया। ट्रेन न रुकती तो उसकी कहानी खतम ही थी।

चलती ट्रेन में चढ़ते समय पैर फिसला

रेलवे स्टेशन रामबाग पर मंगलवार को करीब 3:30 बजे गाड़ी संख्या 02334, विभूति एक्सप्रेस आकर रुकी। ट्रेन दो मिनट रुकने के बाद मूव करने लगी। तभी एक महिला चलती ट्रेन में चढ़ने का प्रयास करने लगी। ट्रेन की गति और तेज हो गई। वह हड़बड़ा गई और अपना संतुलन खो बैठी। उसके हाथ से बोगी का हैंडल छूट गया और वह पहले प्लेटफार्म पर गिरी और पलक झपकते ही ट्रैक के नीचे चली गई।

ट्रेन न रुकती तो चली जाती जान

वहां मौजूद लोग दौड़े और चिल्लाना शुरू कर दिए। तभी ऑन ड्यूटी रहे चौकी प्रभारी, जीआरपी रामबाग ने गार्ड अजय कुमार को ट्रेन रोकने का इशारा किया। वायरलेस से गार्ड ने ड्राइवर को सूचना दी। इमरजेंसी ब्रेक लगाकर गाड़ी रोकी गई। रामबाग के आरपीएफ स्टाफ हेड कांस्टेबल कमलेश कुमार यादव व मडुआडीह के स्कॉर्ट पार्टी के हेड कांस्टेबल अनिल कुमार पांडे ने दौड़कर महिला को ट्रैक से बाहर निकाला। लोग उसकी बचने की कम ही उम्मीद कर रहे थे पर जब वो बाहर आई तो बेहद घबराई हुई थी। मौत को इतना करीब देखकर उसकी सांसें जैसे थम सी गई थीं। सुरक्षाकर्मियों ने उसे ठंडा पानी पिलाया और ढांढस बंधाया तब जाकर 10 मिनट बाद वह नार्मल हो उसकी।

भदोही की रहने वाली हैं आराधना देवी

इसके बाद महिला ने बताया कि उसका नाम आराधना देवी पत्नी विनोद कुमार है। वह गांव तिलंगा थाना गोपीगंज, जिला भदोही की रहने वाली है। वह अपने पति के साथ अपने घर भदोही जा रही थी। चलती हुई गाड़ी में चढ़ने के कारण पैर फिसल गया, जिसके कारण वह ट्रेन के नीचे गिर गई महिला को हल्की चोट आई है। बाद में महिला को उसी ट्रेन से अपने गंतव्य के लिए रवाना कर दिया गया।

Back to top button
E-Paper