बहन ने कराया नाबालिग का गैंगेरप, 24 घंटे में पुलिस ने तीनों को दबोचा 

नरसिंहपुर. रिश्तों के विश्वास का कत्ल करते हुए एक छात्रा ने अपने बॉयफ्रेंड की मदद से रिश्ते की बहन को दो दुष्कर्मियों के हवाले कर दिया। पुलिस ने 24 घंटे के भीतर आरोपी छात्रा सहित दो युवकों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया। जानकारी के अनुसार 4 फरवरी को 15 वर्षीय छात्रा परीक्षा देने के लिए अपनी बुआ के घर रुकी।

उसकी बुआ के जेठ की लड़की भी उसी के साथ पढ़ती है। 9 फरवरी को दोनों परीक्षा देने गईं और लौटकर पीडि़त छात्रा की बुआ के घर पर रुकीं। उसी दिन करीब 12 बजे पीडि़त छात्रा की बुआ की लड़की के बॉयफ्रेंड रघुनाथ यादव का फोन आया। उसने छात्रा की बुआ की लड़की को नहर के पास मिलने के लिए बुलाया तो पीडि़ता भी उसके साथ चली गयी। नहर पर पुलिया के पास तीनों बातचीत कर रहे थे , इसी दौरान आरोपी अशोक रजक वहां आया एवं धमकाते हुए घर के लोगों को बुलाकर सब बताने की धमकी देने लगा।

उसने पीडि़त छात्रा पर गलत काम करने का दबाव बनाया। अशोक रजक की धमकी से डर कर पीडि़ता के साथ गयी उसकी बुआ की लडकी और उसके बॉयफ्रेंड रघुनाथ यादव ने पीडि़ता को अशोक रजक के हवाले कर दिया। पीडि़ता ने भागने का प्रयास किया तो उसकी बुआ की लड़की और रघुनाथ ने उसे पकड़ लिया। जिसके बाद आरोपी रघुनाथ और अशोक रजक ने उसके साथ गैंगरेप किया। नाबालिग की रिपोर्ट पर पुलिस ने तत्काल आरोपियों के विरुद्ध धारा 376, 376 डी, 506, 34 भादवि एवं धारा 5 (जी)/ ६ पाक्सो एक्ट 2012 पंजीबद्ध किया।

प्रकरण नाबालिक के साथ सामूहिक दुष्कर्म को होने की वजह से मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक विपुल श्रीवास्तव ने अज्ञात आरोपी की पतासाजी एवं गिरफ्तारी हेतु विशेष टीम का गठन कर आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी हेतु निर्देश दिए । टीम ने प्रकरण में ज्ञात आरोपी रघुुनाथ यादव के संबंध में पतासाजी की तो पता चला कि वह ग्राम राजाकछार में है। पुलिस टीम द्वारा ग्राम राजाकछार में दबिश देकर उसे गिरफ्तार किया गया। पीडि़ता द्वारा बताए गए हुलिया के आधार पर ग्राम बगासपुर निवासी अशोक रजक को उसके घर से गिरफ्तार किया गया। सामूहिक दुष्कृत्य के प्रकरण में एक सह आरोपी जो कि पीडि़ता की बुआ की जेठ की लड़की है उसे भी गिरफ्तार किया गया।

Back to top button
E-Paper