बिच्छू काटने पर अचूक है ये इलाज, फौरन बाहर निकल जाएगा डंक

बिच्छू का जहर बहुत खतरनाक होता है क्‍योंकि इसके काटने के बाद इसका जहर कुछ ऐसा होता है कि पूरे शरीर में जलन होने लगती है और उसका शिकार बुरी तरह से तड़पने लगता है। लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसे नुस्‍खे बताएंगे जिसे आजमाकर आप बिच्‍छु के जहर से बच सकते हैं। ये एक होम्‍योपैथिक दवा है जिसे हम बिच्‍छू के जहर से बचने के लिए बताने जा रहे हैं।

silisea 200 नाम की ये दवा आपको किसी भी मेडिसिन की दुकान पर आसानी से मिल जाएगा।

इसे आप लाकर अपने घर में पहले से ही रखें। उसके बाद अगर आपको कभी बिच्छू काट ले तो आप इस दवा को हर 10 मिनट में जीभ पर एक एक बूंद लें। ये दवा बस तीन बार लेना ही काफी है। अक्सर जब भी बिच्छू डंक मारता है तो वह अपना डंक शरीर के अंदर ही छोड़ देता है। इस डंक की वजह से ही शरीर में ज्यादा दर्द होता है।

लेकिन आपको बता दें कि इस दवा के इस्‍तेमाल के ठीक आधे घंटे बाद ही आपको बिच्‍छू का जहर खत्‍म हो जाता है और ये दवा नदी की मिट्टी से बनाई जाती है, जिसमें थोड़ी मात्रा बालू रेत की भी होती है।

वैसे इस दवा का प्रयोग आप सिर्फ बिच्छू के काटने पर ही नहीं बल्कि कांटा लगने पर, कांच घुसने पर, ततैया या मधुमक्खी काटने पर भी प्रयोग में ला सकते हैं। ये दवा आपको किसी भी होम्योपैथिक दुकान पर केवल 5 या 10 रूपए में आसानी से मिल जाती है।

Back to top button
E-Paper