बिहारीजी के दर्शन कर लौट रहे श्रद्धालुओं पर गिरा मकान का ऊपरी हिस्सा, मलबे में दबकर पांच की दर्दनाक मौत

-मृतकों में तीन महिलाएं और दो पुरुष

मथुरा (हि.स.)। वृंदावन कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत मंगलवार शाम करीब 5:45 बजे स्नेह बिहारी जी मंदिर के पास भगवाला पार्किंग के सामने दुस्यात मोहल्ला के एक जर्जर मकान की तीसरी मंजिल का हिस्सा भरभराकर गिर गया। जिससे उसके मलबे में करीब 12 श्रद्धालु दब गए। इस हादसे में तीन महिलाओं सहित पांच श्रद्धालुओं की मौत हो गई। घायलों को अलग-अलग अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कुछ घायलों का जिला अस्पताल तो कुछ का सौ शैय्या अस्पताल में उपचार चल रहा है। मरने वालों में तीन लोग कानपुर के रहने वाले हैं। मलबे में दबे लोग बांके बिहारी मंदिर दर्शन करके वहां से निकल रहे थे।

मंगलवार शाम को हादसा वृंदावन कोतवाली क्षेत्र में बांके बिहारी मंदिर से करीब 200 मीटर दूर स्थित स्नेह बिहारी जी मंदिर के पास हुआ। यहां भागवाला पार्किंग के सामने दूस्यात मोहल्ला में बनी पुरानी बिल्डिंग की तीसरी मंजिल का ऊपरी हिस्सा अचानक धराशायी हो गया। बिल्डिंग गिरने से रास्ते से निकल रहे श्रद्धालु मलबे में दब गए। हादसा देख मौके पर चीख पुकार मच गई। आसपास के लोग भागकर पहुंचे। उन्होंने पुलिस को सूचना दी। सूचना पाकर जिलाधिकारी पुलकित खरे, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पांडेय, एसपी सिटी एमपी सिंह, सीओ सदर प्रवीण कुमार सहित वृंदावन केतवाली पुलिस मौके पर पहुंच गई।

एसएसपी के आदेश पर पुलिस ने रेस्क्यू करके मलबे में दबे लोगों को बाहर निकाल कर आनन फानन में एंबुलेंस न पहुंचने पर उन्हें तत्काल ई रिक्शा की मदद से सौ शैय्या अस्पताल पहुंचाया गया। यहां जाच के बाद डॉक्टरों ने गीता कश्यप निवासी कानपुर, अरविंद कुमार निवासी कानपुर नगर, रश्मि गुप्ता निवासी कानपुर, अंजू मुगयी निवासी वृंदावन और एक अज्ञात को मृत घोषित कर दिया। जबकि कई लोग गंभीर रूप से घायल हुए, जिनका उपचार जिला अस्पताल और सौ शैय्या अस्पताल में चल रहा है।

एसएसपी शैलेश पांडेय ने घटना को लेकर बताया कि वृंदावन के दुस्यात मोहल्ले के पास एक पुराना तीन मंजिला मकान था। मकान का ऊपरी हिस्सा अचानक से गिर पड़ा जिससे कुछ लोग मलबे में दब गए। सूचना मिलते ही पुलिस टीम तुरंत मौके पर पहुंच गई। पुलिस टीम के साथ फायर ब्रिगेड टीम भी रेस्क्यू ऑपरेशन में लगी है। एसएसपी के अनुसार मलबे में कुल 11 लोग दबे थे, जिनमें मृतक भी शामिल हैं।

Back to top button