बेरोजगार युवाओं से धोखाधड़ी करने वाला कछुआ गिरफ्तार

रानीपुर कोतवाली पुलिस ने दिल्ली से किया गिरफ्तार

हरिद्वार, 20 अक्टूबर। नौकरी लगवाने के नाम पर बेरोजगार युवाओं से धोखाधड़ी कर लाखों रूपए ऐंठने वाले कछुआ को रानीपुर कोतवाली पुलिस ने दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया है। बीते वर्ष टिबड़ी निवासी दुर्गा प्रसाद ने नौकरी लगवाने के नाम पर ठगी किए जाने का आरोप लगाते हुए देहरादून नगर कोतवाली में मुकद्मा दर्ज कराया था। मुकद्मे में दिल्ली निवासी सौरभ कौशिक उर्फ कछुआ, मनोज कुमार, सोमेश पंत व दीपक को नामजद करते हुए दुर्गा प्रसाद ने आरोप लगाया था कि दिल्ली कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग में क्लर्क की नौकरी लगवाने के नाम पर उससे दो लाख रूपए लिए गए। नौकरी नहीं मिलने पर जब उसने पैसे वापस मांगे तो आरोपी उसके साथ गालीगलौच कर रहे हैं। धोखाधड़ी व अन्य धाराओं में दर्ज मुकद्मे की जांच उप निरीक्षक राहुल कापड़ी कर रहे थे। लाॅकडाउन के चलते दुर्गा प्रसाद ने जांच के दौरान बार बार देहरादून जाने में असमर्थता जताते हुए मामले को हरिद्वार पुलिस को स्थानांतरित करने की मांग पर विवेचना रानीपुर कोतवाली पुलिस को सौंपी गयी। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस व सीआईयू की संयुक्त टीम गठित की गयी।  मामले की जांच में जुटी पुलिस टीम ने आरोपी सौरभ कौशिक उर्फ कुछुआ की गिरफ्तारी के लिए कई बार दिल्ली में उसके ठिकानों पर दबिश दी। लेकिन शातिर कछुआ पुलिस के हाथ नहीं लग पाया। अदालत से गैर जमानती वारंट जारी होने पर एसआई विकास रावत, कांस्टेबल पंकज देवली व सत्येंद्र यादव ने गली नंबर 3 गंगा विहार थाना गोकुलपुरी दिल्ली स्थित उसके आवास से उसे गिरफ्तार कर लिया।    

कोतवाली प्रभारी कुंदनसिंह राणा ने बताया कि कार्मिक विभाग दिल्ली, अध्यापक व नर्स आदि पदों पर नौकरी लगवाने के नाम पर बेरोजगारी से ठगी करने वाला सौरभ कौशिक हमेशा सूटेड बुटेड रहता था तथा राष्ट्रीय स्तर के राजनीतिज्ञों व गणमान्य लोगों के साथ फोटो खिंचवा कर बेरोजगार युवाओं को विश्वास दिलवाता था कि उसकी सरकार व प्रशासन में अच्छी पहुंच है। बेरोजगार युवाओं को लगता था कि अभियुक्त सौरभ कौशिक उनकी नौकरी लगवा सकता है। नौकरी लगवाने के नाम पर फर्जी नियुक्ति पत्र कर रूपए लेता था। जिसमें आधे रूपए नौकरी लगवाने से पहले व आधे बाद में देने को कहता था। जिससे बेरोजगार युवा उसके झांसे में आ जाते थे।  इसी कारण झांसे में व बिश्वास मे लेकर अभियुक्त सौरभ कौशिक युवाओं से कार्मिक बिभाग दिल्ली, अध्यापक,व नर्स के पद पर नौकरी लगवाने के नाम पर फर्जी नियुक्ति पत्र जारी कर  पैसे  लेता था। कई युवाओं से ठगी कर चुका सौरभ कौशिक फर्जी नियुक्ति पत्र भेजकर अब तक लाखों रूपए बेराजगारों से अपने खाते में मंगवा चुका है। आरोपी के खिलाफ थाना गोकुलपुरी दिल्ली में कई मुकद्मे दर्ज हैं। पुलिस टीम में प्रभारी निरिक्षक कोतवाली रानीपुर, सीआईयू प्रभारी, हेड कांस्टेबल सीआईयू सुन्दर लाल, कांस्टेबल उमेश, कांस्टेबल वसीम आदि शामिल रहे।

Back to top button
E-Paper