मकड़ी का जाला साफ करने से पहले अगर नहीं किया ये काम, तो आप झेलेंगे दुर्भाग्य

घर को साफ़ सुथरा बनाने में आपके दो फायदे होते हैं. पहला ये आपके स्वास्थ के हिसाब से अच्छा होता हैं और दूसरा इससे घर में पॉजिटिव एनर्जी बनी रहती है. वास्तु की माने तो जिस घर में साफ़ सफाई नहीं रहती हैं वहां नकारात्मक उर्जा ज्यादा रहती हैं और माँ लक्ष्मी भी प्रवेश नहीं करती हैं. इसलिए घर का माहोल पॉजिटिव रखने के लिए और माँ लक्ष्मी को आमंत्रित करने के लिए घर में साफ़ सफाई होना बेहद जरूरी हो जाता हैं.

साफ़ सफाई करते समय हम लोग यहाँ वहां की धुल झटकारते हैं इसमें कई बार हमें दिवार पर बने मकड़ी के जाले बभी दिख जाते हैं. ऐसे में हम बिना सोचे समझे इन मकड़ी के जालों को फटाफट साफ़ करने लगते हैं. इस प्रक्रियां में जाले में रह रही मकड़ी कई मार जाने या अंजाने में मर भी जाती हैं. बहुत कम लोग जानते हैं कि घर के अंदर मकड़ी को मारना बहुत बड़ा अपशगुन होता हैं. कई बार मकड़ी मारने वाले के ऊपर इसका नकारात्मक असर भी पड़ने लगता हैं. दरअसल ऐसा कहा जाता हैं कि मकड़ी को मारने वाले इंसान के ऊपर दुर्भाग्य सबसे पहले हावी होता हैं. इसलिए आप जब भी घर में मकड़ी का कोई जाला साफ़ करे तो ये काम अवश्य करे.

घर में मकड़ी का जाला दिख जाए तो सबसे पहले झाड़ू से जले के नजदीक धीरे से कम्पन्न कर दे. इससे जाले पर बैठी मकड़ी भाग जाएगी. इसके बाद आप जाला आसानी से साफ़ कर सकते हैं और आपके हाथो की मकड़ी की जान भी नहीं जाएगी. यदि आप किसी वजह से मकड़ी को ही घर से बाहर करना चाहते हैं तो उसे किसी बर्तन में आहिस्ता से आने के लिए मजबूर कीजिए. इसके लिए आप बर्तन को चलती हुई मकड़ी के आगे रख दीजिए. या फिर उसे जले सहित ही झाडू में लपेट कर बाहर फेक दीजिए. बस जहाँ तक कोशिश हो सके मकड़ी को मारिएगा नहीं.

तो दोस्तों ये था वो काम जिसे आपको मकड़ी का कोई भी जाला साफ़ करते हुए ध्यान में रखना चाहिए. आमतौर पर लोगो की मानसिकता यही होती हैं कि मकड़ी दिखते ही वो उसे झाड़ू या चप्पल से मार देते हैं. लेकिन घर में यदि आप मकड़ी जैसी जीव की हत्या करते हैं तो उसके दुष्परिणाम भी आपको भुगतने पड़ सकते हैं. ऐसा कहा जाता हैं कि मकड़ी को मारना दुर्भाग्य को न्योता देता हैं. जब आप मकड़ी को मारते हैं तो वो एक तरह से जीव की हत्या होती हैं. इससे ये हत्या जहाँ हुई हैं वहां सबसे अधिक नेगेटिव एनर्जी निकलती हैं. इसलिए ये नेगेटिव एनर्जी घर के साथ साथ मकड़ी मारने वाले इंसान में भी समा जाती हैं. नतीजन उसके चारो और दुर्भाग्य का साया मंडराने लगता हैं.

Back to top button
E-Paper